8
हिन्दू धर्म में सुहागिन महिलाओ के लिए सिन्दूर का बड़ा महत्व है | सिन्दूर महिला के सुहाग की निशानी होता है | ऐसा भी माना जाता है कि महिलाये अपने पति की लम्बी आयु के लिए सिन्दूर लगाती है | हमारे धर्म शास्त्रों आदि में बताया गया है कि सिन्दूर का सीधा प्रभाव इसे लगाने वाली महिला के पति के भाग्य पर पड़ता है | ऐसे में ये बहुत आवश्यक हो जाता है कि इसे लगाने में किसी प्रकार की गलती न हो | शास्त्रों के अनुसार यदि इसे लगाने में किसी प्रकार की गलती होती है, तो इसका नकारात्मक प्रभाव वैवाहिक जीवन पर पड़ने लगता है | ऐसे में आज हम आपको सिन्दूर से जुडी कोई जरुरी सावधानियों से अवगत करवाने जा रहे है |
महिलाये सिन्दूर लगाते समय माँ पार्वती का ध्यान करे | ऐसा इसलिए क्योंकि माँ पार्वती अखंड सौभाग्यवती होने का आशीर्वाद प्रदान करती है |
आजकल कई विवाहित महिलाये मांग में सिन्दूर तो लगाती है, लेकिन फैशन के चलते उसे छिपा देती है | जो कि सही नहीं है | शास्त्रों के अनुसार सिन्दूर हमेशा स्पष्ट मांग में दिखाई देना चाहिए | सिन्दूर छिपाने से पति के मान सम्मान में कमी आती है |
मांग में सिन्दूर हमेशा लम्बा लगाना चाहिए | ये आपके पति के मान सम्मान में वृद्धि का कारण बनता है | छोटा सा सिन्दूर लगाने से पति की मान सम्मान और आयु पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है | इसीलिए इसे लगाने से बचना चाहिए |
एक सुहागिन महिला को सिन्दूर कभी टेढ़ा मेढ़ा नहीं लगाना चाहिए | सिन्दूर हमेशा नाक की सीढ़ी रेखा में ही लगाना चाहिए | टेढ़ा मेढ़ा लगा सिन्दूर वैवाहिक जीवन में कलह का कारण बनता है | साथ ही पति का भाग्य भी कमजोर होने लगता है |
कामकाजी महिलाये अक्सर सिन्दूर लगाना भूल जाती है या कामकाज के चलते ना लगाना ही बेहतर समझती है | लेकिन ये सही नहीं है | सिन्दूर रोजाना लगाना चाहिए | ये आपके दाम्पत्य जीवन में प्यार को बढ़ाता है |
यदि कभी सिन्दूर लगाने के दौरान सिन्दूर की डिबिया हाथ से छूटकर गिर जाए और उसका सिन्दूर बिखर जाए | तो उस गिरे सिन्दूर को अपनी मांग में ना लगाए | शास्त्रों में नीचे गिरे हुए सिन्दूर को लगाना अपशकुन माना गया है | कहा जाता है कि नीचे गिरने से सिन्दूर अपवित्र हो जाता है |
महिलाओ को हमेशा नहाने के बाद ही सिन्दूर लगाना चाहिए | साथ ही ऐसा भी बताया जाता है कि महिला को अपना सिन्दूर कभी किसी से शेयर नहीं करना चाहिए | ऐसा करने से पति का प्यार बंट जाता है |
शादी के दिन पति अपने हाथो से अपनी पत्नी की मांग में सिन्दूर भरता है | लेकिन शादी के बाद ऐसा कम ही हो पाता है | ऐसे में महिलाओ को कम से कम सप्ताह में एक बार अपने पति के हाथो से सिन्दूर लगवाना चाहिए | ये आपके रिश्ते को मजबूती प्रदान करता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here