10

हनुमान जी की भक्ति में एक मुस्लिम युवक भी कुछ इस तरह ललीन हो गया कि उसने पूरी उम्र बजरंगबली की भक्ति और सेवा करने का फैसला किया और धर्म परिवर्तन कर लिया। गांव में एक रिटायर दरोगा ने हनुमान मंदिर बनवाया। इसके बाद से ही गांव वालों का ह्रदय परिवर्तन हो गया। सभी लोगों ने बुराई और नशे को त्याग दिया और अब बस श्रीराम भक्त हनुमान की भक्ति में ही डूबे रहते हैं।

गोंडा के परसपुर के लायकपुरवा गांव में ग्रामीण अब सच्चे हनुमान भक्त बन चुके हैं। इस भक्ति में गांव का रहने वाला मोहम्मद अनीस भी पूरी तरह से डूब चुका है। यही वजह है कि अब धर्म परिवर्तन कर लिया है और अनीस से शुक्राचार्य बन गया है। अनीस मंदिर में हनुमान जी के जब दर्शन किये तो उसमे एक सकारात्मक परिवर्तन हुआ। उसने सभी बुराइयों को त्याग दिया। हनुमान जी की सेवा में ही अब शुक्राचार्य अब लगे रहते हैं।

वो उनकी भक्ति करते हैं और मंदिर में रोजाना आरती भी करते हैं। उनका कहना है कि जब से वो हनुमान जी शरण में आए हैं तब से उनके दिन बदल गए हैं। परिवार में खुशियां आ गईं हैं। उन्होंने जब धर्म परिवर्तन करने का फैसला किया तो उनके इस फैसले का विरोध किसी ने नहीं किया। उन्हें परिवार और समाज दोनों का ही साथ मिला। गांव के लोगों में भक्ति का दीपक योगीराज कुँवरनाथ जलाया।

जो पहले पुलिस में दरोगा के पद थे। इनकी आखिरी पोस्टिंग अयोध्या में थी, जहां उनमे हनुमान जी कि भक्ति की भावना जागी। जब वो रिटायर हुए और जो राशि उन्हें विभाग से मिली उसका इस्तेमाल करके उन्होंने गांव में मंदिर बना दिया। पहले जहां गांव वाले शराब पीने और झगड़ों में दिन गुजार देते थे। वहीं लोग मंदिर बनने के बाद बदलने लगे और हनुमान भक्ति में डूब गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here