6

नुमान चालीसा के पाठ का हिंदू धर्म में काफी महत्व है। रामभक्त हनुमान जी का पाठ करने से जीवन में चल रही थी परेशानियों से मुक्ति मिलती है और सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है। चालीसा का नियमित पाठ करने से भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। हनुमान चालीसा का पाठ करने के भी कुछ नियम होते हैं, जिसके बारे में लोग काफी काम जानते हैं। आईये आपको बताते हैं कि पाठ के दौरान आपको किन बातों का विशेष ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

  • हनुमान चालीसा का पाठ शुरू करने से पूर्व भगवान श्रीराम और हनुमान जी का स्मरण जरूर करें। उनकी तस्वीर या मूर्ति स्थापित कर पाठ करें। जब भी पाठ शुरू करने से जा रहे हों, उससे पहले दीया या धूप पहले जला लें।
  • तांबे या फिर पीतल के पात्र में जल भरकर हनुमान जी की मूर्ति के सामने रखें, जिसके बाद हनुमान जी और हनुमान चालीसा पर जल की कुछ बूंदे अर्पित करें। और तब हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  • सिंदूर का टीका हनुमान जी को जरूर लगाना चाहिए और उनके चरणों में से टीका उठाकर खुद के माथे पर जरूर लगाएं।

हनुमान चालीसा पाठ के दौरान बरतें सावधानियां

  • हमेशा स्नान कर साफ कपड़े पहन कर हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  • हनुमान चालीसा का पाठ शुरू करने से पहले जमीन पर आसान बिछा लें और तब अपने इष्ट देव की आराधना शुरू करें। खाली जमीन पर बैठकर पाठ करना शुभ नहीं माना गया है।
  • बुरे ख्यालों को दिमाग से निकाल कर शांत मन से हनुमान जी का स्मरण करते हुए पाठ करना चाहिए।
  • हनुमान जी का प्रिय भोग चालीसा का पाठ करने के बाद पवन पुत्र को चढ़ाएं।
  • मंगलवार या शनिवार का दिन हनुमान चालीसा का पाठ शुरू करने के लिए सबसे शुभ दिन होता है। पाठ शुरू करने से पहले हनुमान की मूर्ति को लाल सिंदूर जरूर चढ़ाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here