6

क्रोध एक अग्नि की तरह होता है, जिसका काम सिर्फ जलाना ही होता है। कुछ लोगों में देखने को मिलता है कि उन्हें छोटी-छोटी बातों में ही गुस्सा आ जाता है। इसका प्रभाव पूरे परिवार पर पड़ता है, जिससे घर में तनाव बना रहता है। अधिक गुस्सा करने वाला व्यक्ति खुद का तो नुकसान करता ही है और साथ में अपनों को भी नुकसान पहुंचता है। गुस्सा आपको नकारात्मकता से भर देता है, वहीं आपके आस पास का माहौल भी नेगेटिव होने लगता है। वास्तु शास्त्र में ऐसे कई उपाय बताए गए हैं, जिन्हे अपनाकर आप गुस्से को नियंत्रण में कर सकते है।

लाल रंग का प्रयोग न करें
घर की दीवारों पर लाल रंग न करवाएं अगर आपको अधिक गुस्सा आता है। वहीं आपने अगर लाल रंग दीवारों पर करवाया हुआ है तो इसे बदलाव दें। लाल रंग मगल का माना का जाता है, जिससे आपका गुस्सा बढ़ना तय है, वहीं घर में लाल रंग की चादर, पर्दे और कुशन कवर इस्तेमाल न करें।

पूर्व दिशा में दीपक जलाएं
पूर्व दिशा में नियमित सुबह और शाम के समय दीपक जरूर जलाएं, जिससे घर में मौजूद नकारात्मकता दूर होगी। वहीं घर का माहौल भी सकारात्मक होगा। पूर्व दिशा में कोई भी भारी सामान न रखें।

सेंधा नमक से दूर करें नकारात्मकता
सेंधा नमक नकारात्मकता दूर करता है। आप इसे घर के कोनों में एक कटोरी में रखें। अपने बेडरूम में तो इसे जरूर रखें। इससे नकारात्मकता का नाश होगा। परिवार के सदस्यों के बीच तनाव खत्म होगा। माहौल शांत रहेगा और गुस्सा भी नियंत्रण में रहेगा।

सुबह उठकर हाथों को देखें
सुबह उठते ही सबसे पहले अपनों हाथों को देखते हुए मन में ही बोलें – ‘कराग्रे वसते लक्ष्मीः करमध्ये सरस्वती, करमूले तु गोविन्दः प्रभाते करदर्शनम’, जिसके बाद धरती को पांच बार प्रणाम जरूर करें। यह काम नियमित रूप से रोजाना करें। इससे आपका दिन अच्छा जाएगा और गुस्सा भी शांत होगा।

चंद्रमा को दें रोजाना अर्घ्य
अगर आपको गुस्सा बहुत आता है तो रोजाना रात में चंद्रमा को अर्घ्य दें। चंद्रमा की प्रकृति ठंडी होती है। अर्घ्य देने के बाद चंद्रदेव की प्रार्थना करें। गुस्सा शांत करने के आप सोमवार का व्रत भी रखना शुरू कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here