6

गौरतलब है कि बीते दिनों यूपी के हाथरस में 19 साल की एक दलित लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था। इस घटना में शामिल चारों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था। पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर के अनुसार दरिंदों ने 14 सितंबर को घटना को अंजाम दिया था। यह घटना चंदपा पुलिस थानाक्षेत्र के एक गांव की है, जिसमें गांव के ही चार युवकों ने लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था।

उन्होंने बताया कि पीड़िता ने अपने बयान में कहा था कि दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने उसका गला दबाकर जान से मारने की कोशिश की थी। इसके बाद पीड़िता का अलीगढ़ के एक स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा था। लेकिन उसकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। इसलिए उसे कल दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। आरोपियों ने पीड़िता को जान से मारने की कोशिश की थी, जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी और गले में गंभीर चोट आई थी। बेरहमी की इंतहा पार करते हुए पीड़िता की जीभ भी काट डाली थी, जिसके चलते उसकी हालत काफी नाजुक हो गई थी।

इस घटना के बाद विपक्षी दलों ने कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोला था। बसपा प्रमुख मायावती ने इस घटना को लेकर यूपी सरकार पर निशाना साधा था। मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ‘यूपी के जिला हाथरस में एक दलित लड़की को पहले बुरी तरह से पीटा गया, फिर उसके साथ गैंगरेप किया गया, जो अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय है। जबकि अन्य समाज की बहन-बेटियां भी अब यहां प्रदेश में सुरक्षित नहीं हैं। सरकार इस ओर जरूर ध्यान दे, बी.एस.पी. की यह मांग।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here