15 जून से फिर से लगेगा लॉकडाउन? – दुनिया पर कोरोना वायरस अपना कहर पूरी तरह से फैला दिया है ऐसे में सरकार हर कोशिश कर रही है कि कोरोना वायरस से कैसे लड़ा जाए ताकि हर व्यक्ति सुरक्षित रहे और कोरोना वायरस के चपेट में ना आए इसके लिए सरकार ने लॉकडाउन लागू किया था लॉकडाउन लगाने के बाद काफी फायदे है देखने को मिला था  अब केंद्र ने लॉकडाउन में ढील देने के साथ अनलॉक-1 की भी शुरुआत कर दी है.

जिस वजह से हर दिन कोरोना के मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही हैं. भारत कोरोना मामले में दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंच गया है। अब तक देश में 2.98 लाख केस सामने आ चुके हैं। वहीं, 8500 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। पंजाब स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, पंजाब में अगले 2 महीने में कोरोना महामारी चरम पर पहुँच जाएगी।

इससे पहले मंगलवार को सीएम अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि वीकेंड और पब्लिक हॉलीडे सभी प्रकार की गतिविधियों पर रोक लगाया जाए। इस दौरान केवल आवश्यक सेवाओं के लिए आवागमन जारी रहेगा। इसके लिए उन्हें ई पास डाउनलोड करना जरूरी होगा। लेकिन उद्योग इस दौरान खुले रहेंगे।इसके अलावा सीएम अमरिंदर सिंह ने बताया, दिल्ली से पंजाब में प्रतिदिन 500-800 वाहन आ रहे हैं।

ऐसे में इन लोगों के लिए कड़ाई से नियमों का पालन करवाना आवश्यक हो। इन सभी की टेस्टिंग अनिवार्य हो। वहीँ लगातार बढ़ रहे केसों को देखते हुए मद्रास हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा कि चेन्नई में लॉकडाउन क्यों नहीं लागू किया जा सकता। सरकार से इस पर शुक्रवार को जवाब मांगा है। तमिलनाडु के कुल केसों में 70% केवल चेन्नई में ही हैं। वहीं, यहां 258 लोगों की मौत हो चुकी है।केरल कांग्रेस समर्थित झारखंड में गुरुवार को सीएम हेमंत सोरेन ने राज्य में पूरी तरह से लॉकडाउन लगाने के लिए फैसला किया है।

जिससे राज्य में बढ़ते हुए मामलों के बारे में जानकारी मिल सके। इसके अलावा केरल ने दोबारा कंटेनमेंट एरिया बनाने और उनमें कड़े नियम बनाने का निर्णय लिया है। मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल में कोरोना वायरस के सबसे अधिक केस सामने आये हैं। ऐसे में राज्य सरकार ने निर्णय किया है कि राजधानी वीकेंड पर दो दिन बंद रहा करेगी। वहीँ भोपाल हफ्ते में केवल 5 दिन खुलेगा। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया, पूरा प्रदेश फिलहाल संभल चुका है,अब भोपाल पर मुख्य फोकस है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here