7

कोरोना (Corona) की दूसरी लहर अभी शांत भी नहीं हुई है कि तीसरी लहर (third wave) की चेतावनी जारी कर दी गई हैं। महाराष्ट्र में संक्रमण की तीसरी लहर अगले दो से चार हफ़्तों में ही आने की आशंका जाहिर की गई है। कोरोना के लिए बनाई गई स्टेट टास्क फोर्स (State Task Force) ने संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर चेतावनी जारी कर दी है। बड़ी बात यह यही कि टास्क फोर्स की तरफ से बताया गया है कि कोरोना की तीसरी लहर का असर बच्चों पर कुछ खास नहीं पड़ेगा। सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई बैठक में टास्क फोर्स ने ये अनुमान लगाया है।

संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर टास्क फोर्स ने बताया है कि कोरोना की दूसरी लहर में एक्टिव केसों के साथ तीसरी लहर में कोरोना के मामले दोगुने हो सकते हैं। कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या राज्य में आठ लाख तक हो सकती है। इसके साथ यह भी आशंका जाहिर की गई है कि इन एक्टिव केसो में से दस प्रतिशत मामले बच्चों और युवा वयस्कों से जुड़े हो सकते हैं।

कोरोना संक्रमण की गाइड लाइन का पालन करना इस समय बेहद ज्यादा जरूरी है। टास्क फोर्स के सदस्य डॉ शशांक जोशी का कहना है कि गाइड लाइन का अगर पालन नहीं किया गया तो हालात ब्रिटेन की तरह राज्य में भी हो सकते हैं। गौरतलब है कि ब्रिटेन में दूसरी लहर के शांत होते ही चार सप्ताह में ही कोरोना की तीसरी लहर आ गई है। इस लहर से सबसे प्रभावित निम्न माध्यम वर्ग होगा क्योंकि संक्रमण की दो लहरों के बाद उनमे रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो गई है।

राज्य में संक्रमण के खतरे को देखते हुए सरकार की कोशिश है कि टीकाकरण ज्यादा से ज्यादा किया जाये, जिससे मृत्यु दर को कम किया जा सके। राज्य में संक्रमण के खतरे को देखते हुए सरकार की कोशिश है कि टीकाकरण ज्यादा से ज्यादा किया जाये, जिससे मृत्यु दर को कम किया जा सके। महाराष्ट्र में अब तक संक्रमण के 59,34,880 मामले आ चुके हैं, जिसमे से 56,79,746 मामले रिकवर हो चुके हैं। जबकि 1,15,390 लोगों की मौत हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here