8

पीएमओ की ओर से 5 अगस्त की तारीख निर्धारित कर दी गई है। सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन करेंगे। ज्ञात हो कि इससे एक दिन पहले शनिवार को श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की अयोध्या में हुई पहली बैठक में मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास के लिए दो तारीख तय की गई थी। शिलान्यास के लिए 3 और 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रण भी भेजा गया था।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री कार्यालय ने 5 अगस्त की तारीख का तय कर दिया है। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या आएंगे और शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होंगे। वहीं एक दिन पहले हुई बैठक में अयोध्या में राम मंदिर की ऊंचाई 161 फीट किए जाने का फैसला लिया गया था, जिससे अब दो की जगह तीन मंजिला मंदिर का निर्माण होना है। राम मंदिर समेत देश के कई प्रसिद्ध तीर्थों का नक्शा तैयार करने वाले वास्तुकार चंद्रकांत सोमपुरा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मंदिर के शिखर की ऊंचाई बढ़ाने के फैसले और गुंबदों की संख्या तीन की जगह पांच किए जाने के बाद एक मंजिल और बढ़ाना जरूरी हो गया था। इससे पहले के नक्शे के मुताबिक मंदिर की ऊंचाई 128 फिट निर्धारित थी। इतना ही नहीं गुंबद और ऊंचाई के अलावा मंदिर के मुख्य परिसर का क्षेत्रफल भी थोड़ा और बढ़ाया जाएगा। यह बदलाव संतों और ट्रस्ट की इच्छा के मुताबिक किया गया है। तीन मंजिल के हिसाब से फाइनल नक्शा भी जल्द तैयार हो जाएगा।

गौरतलब है कि पहले के नक्शे के मुताबिक नागर शैली के इस मंदिर परिसर क्षेत्र का दायरा लगभग 67 एकड़ में रखा गया था, जिसे अब नए डिजाइन और ऊंचाई की जरूरत के मुताबिक 100 से 120 एकड़ में विस्तारित किया जाना संभव है। वहीं यह भी कहा जा रहा है कि मंदिर की रूपरेखा तैयार होने के 15 दिन के भीतर ही नई डिजाइन के मुताबिक मास्टरप्लान तैयार किया जा सकता है। सोमपुरा ने कहा कि मंदिर के मौजूदा डिजाइन के मुताबिक इसके निर्माण में लगभग 100 करोड़ रुपए की लागत आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here