7

आपको बता दें कि सूबे की राजधानी लखनऊ का आलम यह है कि लगभग एक हफ्ते से मरीजों को केजीएमयू, पीजीआई और लोहिया समेत कोरोना वायरस के सेंटर में भर्ती नहीं मिल रही है। बाहरी जिलों से आने वाले मरीजों को भी बेड खाली न होने से लौटना पड़ रहा है। ऐसे में लगातार मांग हो रही थी कि सरकार बिना लक्षणों वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की व्यवस्था करे। हालांकि सरकार को दावा है कि प्रदेश में बेडों की कमी नहीं है। सीएम ने होम आइसोलशन को मंजूरी देने के साथ ही अधिकारियों को तत्काल गाइडलाइन बनाने के आदेश दिए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक करके अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना वायरस को लेकर व्यापक तौर पर जागरूकता अभियान चलाया जाए।

लोगों को इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए प्रेरित किया जाए। सीएम योगी ने स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग को मृत्युदर में कमी लाने के लिए काम करने को कहा है। इसके अलावा वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करने का भी आदेश दिया गया है। 23 करोड़ की आबादी के साथ उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। रविवार को कोरोना के 2 हजार 250 नए मामले सामने आए। 19 हजार 845 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। वहीं मृतकों की कुल संख्या 1 हजार 146 है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here