16

सड़क पर जा रही बकरी को देखते ही बेकनगंज पुलिस ने उस उठाया और जीप में लादकर थाने ले गई। जानकारी होने पर बकरी मालिक ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई, जिस पर पुलिस ने फिर सड़क पर न घूमने देने की हिदायत देते हुए बकरी को रिहा कर दिया।

अगर आप चाइनीस ब्राउज़र यूज करते थे तो आप कौन सा ब्राउज़र यूज़ करें जो हंड्रेड परसेंट भारत में बना हुआ है dowload link : https://play.google.com/store/apps/details?id=com.india.ucc

अनवरगंज पुलिस स्टेशन के सैफुद्दीन बेग ने कहा कि पुलिस ने एक युवक को बिना मास्क के बकरी के साथ घूम रहा था। पुलिस को देखकर वह भाग गया, जिस पर पुलिसवालों ने उसकी बकरी को लेकर थाने चले आए। मालिक के आने के बाद हमने बकरी को उसे सौंप दिया। वहीं बकरी लाने वाले पुलिसकर्मियों में से एक ने माना है कि उन्होंने लॉकडाउन के उल्लंघन में बकरी को हिरासत में लिया था। क्योंकि बकरी ने मास्क नहीं पहन रखा था। पुलिस का तर्क था कि अब लोग अपने कुत्तों को मास्क पहनाने लगे हैं तो बकरी को क्यों नहीं।

फिलहाल सोशल मीडिया पर फजीहत होने के बाद पुलिस ने अपना बयान बदल दिया है। वहीं एक पुलिस अधिकारी ने सफाई देते हुए ट्वीट किया है कि बकरी छुट्टा घूम रही थी इसलिए पुलिसवालों ने उसे हिरासत में लिया। इसके जवाब में लोगों के तरह—तरह के कमेंट आ रहे है, जिसमें कानपुर पुलिस का मजाक उड़ाया जा रहा है। कुछ लोगों का तर्क है कि अगर छुट्टा घूमने पर पुलिस बकरी को उठा सकती है तो कुत्तों को क्यों नहीं उठाती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here