9
हमारे जीवन में ग्रह नक्षत्रो का बड़ा महत्व है | कुंडली में मौजूद ग्रह नक्षत्रो की दशा में होने वाला छोटा सा परिवर्तन भी जीवन में होने वाले शुभ अशुभ का कारण बन जाता है | इन ग्रहो की अशुभ दशा जीवन में दुखो का कारण बनती है, तो इनकी शुभ दशा जीवन में सुख समृद्धि लाती है |
अगर आप चाइनीस ब्राउज़र यूज करते थे तो आप कौन सा ब्राउज़र यूज़ करें जो हंड्रेड परसेंट भारत में बना हुआ है dowload link : https://play.google.com/store/apps/details?id=com.india.ucc
हमारे ज्योतिष शास्त्र में नौ ग्रह बताये गए है, जो हमारी कुंडली में मौजूद होते है | कई बार इनकी अशुभ स्थिति जीवन में परेशानियों की वजह बनती है | ऐसे में यदि आप ऐसी स्थिति से गुजर रहे है,तो आपको अब परेशान होने की आवश्यकता नहीं है | इन ग्रहो से जुड़े मंत्र आपको परेशानियों से निकाल सकते है |
सूर्य
सूर्य मान सम्मान की हानि, हृदय रोग और हड्डियों से जुड़े रोगो का कारण है | सूर्य को शांत करने के लिए आप प्रातःकाल चन्दन या रुद्राक्ष की माला से ॐ आदित्याय नमः मंत्र का जाप करे |
चन्द्रमा
चन्द्रमा मानसिक रोग, सांस से जुडी तकलीफ और रक्त से जुडी समस्या का कारक होता है | चन्द्रमा की शांति के लिए आप ॐ सों सोमाय नमः मंत्र का जाप करे |
मंगल
मंगल ग्रह जीवन में अशांति और तरक्की में बाधा का कारक बनता है | ऐसी स्थिति में मंगल की शांति के लिए आप ॐ अं अंगारकाय नमः मंत्र का जाप करे |
बुध 
बुध ग्रह का के कमजोर होने से नाक, गले और वाणी से जुडी समस्या उत्पन्न होती है | इसकी शांति के लिए आप ॐ बुं बुधाय नमः मंत्र का जाप करे |
गुरु
गुरु के प्रतिकूल होने पर मोटापा, पेट से जुडी समस्या और अहंकार और अधर्म की भावना आती है | इस ग्रह की शांति के लिए जातक को ॐ बृं बृहस्पतये नमः मंत्र का जाप करना चाहिए |
शुक्र
इस ग्रह के कमजोर होने पर व्यक्ति के सुख, ऐश्वर्य में कमी आने लगती है और सुखो का त्याग करना पड़ता है | ऐसी स्थिति में जातक को ॐ शुं शुक्राय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए |
शनि
शनि को सबसे क्रूर ग्रह माना गया है | इसके अशुभ होने पर जातक को जीवन में असहनीय दुखो का सामना करना पड़ता है | इसकी शांति के लिए सूर्यास्त के बाद रुद्राक्ष की माला से ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करना चाहिए |
राहु-केतु
ज्योतिष में राहु केतु को पापी ग्रह बताया गया है | ये मानसिक तनाव, आर्थिक नुकसान, दुर्घटना के कारण बनते है | ऐसे में राहु की शांति के लिए ॐ रां राहवे नमः और केतु के शांति के लिए ॐ कें केतवे नमः मंत्र का जाप करना चाहिए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here