16

वहां अपराध भी उतना ही ज्यादा है। देश की राजधानी दिल्ली अपराधों का गढ़ बनती जा रही है। यहां बच्चों के साथ बढ़ रहे अपराधों पर अंकुश लगाने की लगातार कोशिश हो रही है, बावजूद इसके मामलों में कोई कमी नजर नहीं आ रही है। दिल्ली में अब ढाई महीने की बच्ची को बचाने का मामला सामने आया है। दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) और पुलिस की मदद से इस बच्ची को बचाया जा सका है।

इस संदर्भ में बात करते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बताया कि एक ढाई महीने की बच्ची को डीसीडब्ल्यू ने दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर बचाया गया। उन्होंने कहा कि तीसरी बेटी होने के चलते बाप ने इसे 40,000 रुपए में बेचा था। हैरत की बात यह है कि अब तक यह बच्ची 4 बार बिक चुकी है। इस मामले में 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं जिसमें से 4 मानव तस्कर हैं। स्वाति ने दिल्ली पुलिस से अपील की है कि वो इस मामले की तह तक जाए।

बता दें कि स्वाति मालीवाल को अमनप्रीत नाम के एक व्यक्ति ने बताया कि गरीबी और आर्थिक तंगी के चलते उसने अपनी ढाई महीने की बेटी को एक शख्स सौंप दिया था कि वह उसका पालन पोषण कर सके। लेकिन उसे खबर मिली कि उस व्यक्ति ने उसकी बेटी को किसी को बेच दिया है। इसके बाद वह लाचार होकर राज्य महिला आयोग से अपना दुखड़ा रोने आ गया। उसकी बात सुनकर स्वाति मालीवाल दिल्ली पुलिस की मदद से बच्ची को बचा लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here