10

NEETऔर JEE परीक्षाओं के आयोजन का राज्य सरकार समर्थन करती है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में पिछली नौ अगस्त को बीएड की प्रवेश परीक्षा हुई, जिसमें करीब 5 लाख अभ्यर्थी शमिल हुए थे। अब तक इस परीक्षा में कहीं से भी कोरोना वायरस की कोई जानकारी सामने नहीं आई है। सीएम ने कहा कि इसी ही तरह से लोक सेवा आयोग (UPSC) की भी परीक्षा भी राज्य कराई गई है।

NEETऔर JEE को सोशल मीडिया पर काफी विरोध हो रहा था जिसे देखते हुए विपक्ष को भी सरकार के खिलाफ एक मदद मिल गया और वो भी इस परीक्षा को टालने के लिए दबाव बनाने लगे। लेकिन केंद्र सरकार साफ़ कह चुकी है कि वो परीक्षा को दोबारा टालने वाली नहीं है। वहीं देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने भी परीक्षा को करवाने के पक्ष में फैसला सुनाया था। जिसके बाद दोबारा फिर से कोर्ट में पुनर्विचार याचिका डाली गई है। दूसरी ओर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने परीक्षा के सफल आयोजन की तैयारियां शुरू कर दी है।

इस परीक्षा के लिए करीब 23 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था जिसमे से बीते बुधवार तक करीब 14 लाख अभ्यर्थियों ने इसका एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिया है। जिसके बाद यह भी कहा जा रहा है कि अभ्यर्थियों तो एग्जाम में बैठना चाहते हैं। वहीं समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश यादव भी परीक्षा के आयोजन के पक्ष में नहीं हैं। दूसरी तरफ अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले बैठे हैं सुब्रह्मण्यम स्वामी। उनका साफ़ कहना है कि फ़िलहाल इस वक़्त इस परीक्षा को टाल देना ही बेहतर होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here