10

एक रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई जांच में सुशांत और रिया की ऑडियो क्लिप लीक है जोकि इसी साल जनवरी का बताया जा रहा है। इस वायरल क्लिप में सुशांत सिंह अपने हेल्थ, भविष्य और मानसिक हालत को लेकर परेशान नजर आ रहे हैं।

चाइनीस Uc ब्राउज़र बंद होने के बाद कौन सा ब्राउज़र डाउनलोड करें https://play.google.com/store/apps/details?id=com.lion.browser

ऑडियो क्लिप में न केवल सुशांत और रिया हैं बल्कि उनके पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी की आवाज भी सुनी गई है। साथ ही उस वक्त कोई फाइनेंशियल एडवाइजर्स भी मौजूद हैं। ये बातचीत करीब 36 मिनट की गई थी जिसमें पैसों को मैनेज कराने पर ज्यादा जोर दिया गया जिसे रिया कर रही थी।

सुशांत के पैसे से FD बनाना चाहती थी रिया
सूत्रों के मुताबिक, रिया कॉल में FD बनाने पर जोर देती नजर आ रही हैं। रिया कहती हैं, मैं सिर्फ इसीलिए ये कह रही हूं कि मानों मैं वहां नहीं हूं, श्रुति मोदी भी नहीं है, सैमुअल भी नहीं हैं और सुशांत किसी नए इंसान के साथ हैं। उसे अगर सुशांत कार्ड मिल जाए तो?

रिया आगे कहती हैं, मैं इसीलिए सुशांत को FD बनाने की सलाह दूंगी। हम  पूरा पैसा FD में रखेंगे। कार्ड में सिर्फ 10-15 लाख रुपए ही रखा जाएगा। साथ ही सुशांत को पैसों पर ब्याज भी मिलेगा। जब जरूरत होगी, उन्हें सिर्फ अपना फिक्स डिपॉजिट तुड़वाना पड़ेगा।

मानसिक रूप से बीमार थे सुशांत
इस ऑडियो क्लिप में रिया ज्यादा बात करती नजर आती हैं जबकि सुशांत काफी परेशान दिखाई पड़ रहे हैं। सुशांत वायरल क्लिप में कहते नजर आ रहे हैं कि मैं मुश्किल से ही अपने कमरे से बाहर निकल पा रहा हूं। मैं ये सिर्फ अपनी बौद्धिक शांति के लिए ऐसा कर रहा हूं, न कि किसी आर्थिक परेशानी की वजह। इस वक्त मेरा दिमाग मेरे बस में नहीं है। मैं किसी दिन कुछ महसूस करता हूं और फिर दूसरे किसी दिन कुछ और महसूस करता हूं। मैं अपना वक्त बर्बाद नहीं कर सकता।

ट्रस्ट बनाने की थी प्लानिंग
इसी बीच फाइनेंशियल एडवाइजर सुशांत को सलाह दे रहे हैं कि वे ट्रस्ट बनाकर अपने पैसे उसमें इनवेस्ट करें। ट्रस्ट उनके पैसे को सुरक्षित और सही तरीके से काम करता है। तभी रिया एडवाइजर से पूछती हैं कि, मान लीजिए अगर हमने 10 रुपए ट्रस्ट में लगाए हैं लेकिन हम अब अपने पैसों की एफडी या म्युचुअल फंड बनाना चाहते हैं।

तो ऐसी स्थिति में क्या हमें हमारे ट्रस्टी ऐसा करने दे सकते हैं?’ जिसके जवाब में एडवाइजर कहता है कि ये ट्रस्टी पर डिपेंड करता है। इस ऑडियो से साफ जाहिर होता है कि रिया सुशांत के पैसों को अपने तरीके से मैनेज करना चाहती थीं। फिलहाल, इसे सीबीआई अहम सबूत मान रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here