16

लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (Laser guided anti tank guided missile) सफल परीक्षण के बाद DRDO ने बताया कि इस मिसाइल से 3 किलोमीटर तक दूर बैठे दुश्मन को निशाना बनाया जा सकता है। इसे कई प्लेटफॉर्म लॉन्च क्षमता के साथ डिवेलप किया गया है। इन दिनों में MBT अर्जुन टैंक (Arjun Tank) एक बंदूक से तकनीकी मूल्यांकन के टेस्ट से गुजर रहा है। इसके अतिरिक्त इसमें हाई स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट वारहेड (Expandable Aerial Target Warhead) के माध्यम से एक्सप्लोसिव रिऐक्टिव आर्मर प्रोटेक्टेड वेहिकल्स (Explosive Reactive Armor Protected Vehicles) को उड़ाती है।

यह खास मिसाइल मॉडर्न टैंक्स से लेकर भविष्य के टैंक्स को भी तबाह करने में सफल साबित होगी। वहीं इसे ATGM की मदद से कम ऊंचाई पर उड़ने वाले हेलिकॉप्टर्स पर निशाना साधकर उसे मार गिराया जा सकता है। DRDO की इस बड़ी कामयाबी पर देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर सफल परीक्षण पर बधाई दी है। रक्षामंत्री ने ट्वीट कर कहा कि MBT अर्जुन से लेजर गाइडेड एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण के लिए DRDO को बधाई। DRDO पर भारत को गर्व है, जो निकट भविष्य में आयात निर्भरता को कम करने की दिशा में काम कर रहा है।

DRDO द्वारा अभ्यास मिसाइल का भी सफल परीक्षण किया है। बीते मंगलवार को ओडिशा के परीक्षण केंद्र से ABHYAS-हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का भी सफल उड़ान परीक्षण किया गया। इसके बाद DRDO की तरफ से दिए बयान में कहा गया कि परीक्षण के अवधि में यान ने 5 किलोमीटर की हाइट तक उड़ सकता है। इसकी आवाज काफी कम है, जिसमे 2जी क्षमता के साथ करीब 30 मिनट तक ऑपरेट कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here