7

भारत के किसी हिस्से में व्यक्ति की पहचान की जा सकती है। ऐसे में आधार कार्ड जारी करने वाली अथॉरिटी यूआईडीएआई ने नए पीवीसी आधार कार्ड जारी किए हैं। इसके चलते आधार कार्ड धारकों को यह डर सताने लगा था कि कहीं उनका पुराना आधार नंबर अमान्य न हो जाए। कई लोगों ने सवाल किया था कि क्या अब किसी काम के लिए पुराने आधार स्वीकार नहीं किए जाएंगे। लोगों की इसी चिंता को लेकर यूआईडीएआई ने ट्वीट कर साफ किया है कि नए पीवीसी आधार कार्ड के जारी होने से पुराने आधार कार्ड की मान्यता पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। यूआईडीएआई ने कहा है कि देश में तीनों तरह के आधार कार्ड मान्य रहेंगे।

हाल ही में यूआईडीएआई ने नए पीवीसी आधार कार्ड जारी किए हैं। यह कार्ड क्रेडिट और डेबिट कार्ड की तरह दिखता है। यह कार्ड आप आसानी से अपनी जेब व पर्स में रख सकते हैं। साथ ही इस कार्ड के खराब होने की संभावना भी काफी कम है। यूआईडीएआई के मुताबिक कोई भी व्यक्ति मात्र 50 रुपए का शुल्क देकर पीवीसी आधार कार्ड बनवा सकता है। इसके लिए आप यूआईडीएआई की वेबसाइट uidai.gov.in या resident.uidai.gov.in के माध्यम से ऑर्डर कर सकते हैं। आधार कार्ड स्पीड पोस्ट के माध्यम से निवासी के घर पहुंच जाएगा। यह पीवीसी आधार कार्ड में होलोग्राम, Guilloche Pattern, घोस्ट इमेज तथा माइक्रोटेक्स्ट जैसे लेटेस्ट सिक्योरिटी फीचर्स लैस है। यह प्लास्टिक का कार्ड होता है जिसमें आपकी सारी जानकारी उपलब्ध है।

ऐसे मिलेगा आधार कार्ड: यह आधार कार्ड आपको डाक के माध्यम से भेजा जाएगा। कई बार कुछ तकनीकी दिक्कत के चलते आधार कार्ड आने में समय लग जाता है तो ऐसे में आपको कहीं भी सॉफ्ट कॉपी डाउनलोड करने की सुविधा दी गई है।

ई—आधार: इसे आप यूआईडीएआई की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है। जरूरत पड़ने पर आप इसका प्रिंट निकलवा कर किसी भी योजना या सरकारी परिचय पत्र के तौर पर उपयोग कर सकते हैं। यह कार्ड भी सभी जगह मान्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here