10

नासा का कहना है कि यह भारी क्षुद्रग्रह काफी तेज रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह क्षुद्रग्रह दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा से बड़ा है। नासा के खगोल वैज्ञानिकांे ने इस विशालकाय क्षुद्रग्रह का नाम 153201 2000 107 रखा है। क्षुद्रग्रह की गति और विशालता को देखकर नासा ने इसे गंभीरता से लिया है। वैज्ञानिक मानते हैं कि अगर इस तरह का ऐस्टरॉइड पृथ्वी पर गिरता है तो काफी नुकसान हो सकता है।

नासा ने इसे नियर अर्थ ऑब्जेक्ट कहकर परिभाषित किया है। यह क्षुद्रग्रह 29 नवंबर 2020 को धरती के पास से गुजरेगा। गुजरेगा। इस उल्कापिंड को पृथ्वी के पास गुजरने के कारण वैज्ञानिकों में हलचल बढ़ गयी है। इसके आकार की रेंज 370 मीटर से लेकर 820 मीटर के बीच बताई जा रही है। 820 मीटर से अधिक आकार होने के कारण ही इसकी तुलना बुर्ज खलीफा से की जाने लगी है।

नासा के वैज्ञानिकों ने भी घोषणा की है कि क्षुद्रग्रह 56 हजार मील प्रतिघंटा यानी 25.07 किमी/सेकंड की रफ्तार से स्पेस में चल कर रहा है। उल्कापिंड किसी की आंखों को नजर नहीं आएगा लेकिन छोटे दूरबीन के जरिए आप इसे देख सकते हैं। खगोलविद इस उल्कापिंड का निरीक्षण कर रहे हैं और उसकी प्रत्येक गतिविधि पर नजर बनाये हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here