7

ममता दीदी की नींद हराम हो चुकी है। वे खौफ में आ चुकी हैं और चुनाव से पहले का ये खौफ बीजेपी की रणनीति मालूम पड़ती है। अब अपनी इसी रणनीति के तहत बीजेपी ने ममता सरकार के गिरने की तारीख भी मुकर्रर कर दी है। बीजेपी सांसद सौमित्र खान ने दावा किया है कि टीएमसी के 62 सांसद हमारे संपर्क में हैं। जैसे ही यह 62 सांसद बीजेपी में शिरकत करते हैं तो फिर यकीनन ममता दीदी की सरकार का गिरना तय है। सौमित्री ने दावा किया है कि आगामी 15 दिसंबर तक ममता दीदी का ऐसा हश्र कर देंगे जिससे उनको सरकार चलाना दुभर हो जाएगा।

यहीं नहीं रूके सौमित्री खान.. इसके बाद उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि अगर यह सिलसिला यूं ही जारी रहा तो राज्यपाल जगदीप धनखड़ उन्हें बहुमत साबित करने के लिए कह सकते हैं और बहुमत साबित करने के लिए 149 का आंकड़ा चाहिए। फिलहाल, ममता सरकार को बहुमत साबित करने की नौबत आती है या नहीं यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा।

उधर, अब शुभेंदु के इस्तीफे के बाद से लगातार ममता सरकार को खतरा बताया जा रहा है। शुभेंदु का इस्तीफा ममता दीदी के लिए बहुत बड़ी क्षति माना जा रहा है। शुभेंदु एक ऐसे  सियासी सूरमाओं से में से रहे हैं, जिनका तकरीबन कई जिलों में दबदबा रहा है। अब ऐसी स्थिति में यकीनन शुभेंदु का रूखसत होना ममता दीदी की रुसवाई की सबब बना हुआ है। उधर, बंगाल की राजनीति में औवेसी की एंट्री से भी ममता दीदी के होश उड़े हुुए हैं, क्योंकि जिस मुस्लिम नौका के सहारे  कल तक ममता दीदी अपनी सरकार चलाती हुईं आईं हैं और उस नौका के तो ओवैसी  पुराने खेवनहार रहे हैं। वहीं, बीते काफी दिनों से ममता दीदी हिंदुओं के प्रति भी काफी सॉफ्ट दिख रहीं हैं। ऐसे में वे कहां तक तालमेल बैठा पातीं हैं। यह अपने आप में देखने वाली बात होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here