14

आमिर कतुब उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं. बचपन से ही कुछ कर गुजरने की इच्छा अपने दिल में रखने वाले आमिर की शुरुआती पढ़ाई अलीगढ़ में ही हुयी थी. पढ़ाई पूरी होने के बाद आमिर को हीरो हौंडा कंपनी में जॉब मिल गयी थी. लेकिन आमिर के मन में कुछ बड़ा करने की चाह थी, इसलिए उनका इस नौकरी में मन नहीं लगा. उन्होंने विदेश जाने का फैसला किया और स्टूडेंट वीजा बनवाकर ऑस्ट्रेलिया चले गए.

एयरपोर्ट पर किया सफाईकर्मी का काम

कंपनी

ऑस्ट्रेलिया पहुंच कर आमिर ने कुल 170 जगह नौकरी के लिए अप्लाई किया, लेकिन किसी भी जगह उन्हें कम नहीं दिया गया. कोई नौकरी ना मिल पाने आमिर को अपना खर्चा चलाना मुश्किल पड़ रहा था, तब उन्होंने एयरपोर्ट में एक सफाईकर्मी के रूप में काम किया इसके साथ ही अख़बार बांटने का काम भी शुरू कर दिया, लेकिन हिम्मत नहीं हारी.

शुरू की एक डिजिटल सलूशन कंपनी

इतनी परेशानियों के बावजूद आमिर के मन में कुछ बड़ा करने का जूनून हल्का नहीं  पड़ा. कुछ समय तक उन्होंने नौकरी करके कुछ पैसे इक्कठे किये और ऑस्ट्रेलिया में एक डिजिटल सोल्यूशन कंपनी खोल दी.आमिर ने खूब मन लगा कर काम किया धीरे-धीरे उनकी कंपनी चलने लगी. आज उनकी कंपनी ऑस्ट्रेलिया के साथ कुलं 7 देशो में अपनी सर्विस दे रही. आज के समय में इनकी कंपनी का टर्न ओवर करोड़ों में है.

कंपनी

आमिर की इस सफलता ने उन्हें ऑस्ट्रेलिया का यंग लीडर ऑफ दा बिजनेस का अवार्ड भी दिला दिया. साथ ही आमिर को मेंबर ऑफ गीलोंज अथॉरिटी ने अपने योजना मंत्रालय में सलाहकर सदस्य के रूप में जगह भी मिली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here