10

कई बार व्यक्ति के कर्म नहीं वास्तु उसका भविष्य तय करता है। वास्तु दोष व्यक्ति का वर्तमान और भविष्य दोनों को ही प्रभावित करता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर घर में सब कुछ ठीक है तो व्यक्ति को जीवन में सफलता मिलना तय है लेकिन अगर घर में किसी भी तरह का कोई वास्तु दोष है तो वो दोष आपकी सफलता को असफलता में बदल सकता है। वास्तु दोष व्यक्ति के जीवन में नकारात्मक भर देते हैं। कई बार ये नेगेटिव एनर्जी गलत स्थानों पर जाने की वजह से जीवन में आती है, जिससे उसका सफल और खुशहाल जीवन भी नर्क बन जाता है।

  • व्यक्ति का भविष्य पर वो स्थान काफी प्रभाव डालता है, जहां वो ज्यादा समय बीतता हो। यही वजह है कि कहा जाता है कि व्यक्ति को गलत स्थानों पर नहीं जाना चाहिए। वरना इसका दुष परिणाम सिर्फ उस व्यक्ति को ही नहीं उसके परिवार पर भी पड़ता है। वास्तु शास्त्र में इन स्थानों पर जाने के लिए मना किया गया है।
  • वास्तु के अनुसार घर के आस-पास मांस-मछली की दुकान, शराब की दुकान और जुआघर नहीं होना चाहिए। वहीं इसके आलावा कोई भी गलत और गैर कानूनी काम नहीं होना चाहिए। इन स्थानों का घर के पास होना वास्तु दोष की श्रेणी में आता है।
  • वास्तु के अनुसार, ऐसे स्थानों पर आपराधिक और नकारात्मक प्रवृति के लोग ज्यादा आते हैं। इसका प्रभाव परिवार के बच्चों पर पड़ता है। इससे उन पर नकारात्मक असर पड़ता है और पढ़ाई प्रभावित होती है। परिवार के सदस्यों के बेहतर भविष्य के लिए ऐसे स्थानों से दूर ही रहें।
  • घर के नजदीक उपकरण निर्माण से जुड़ा काम, ऑटो गैराज जैसे शोर वाला काम भी होना वास्तु शुभ नहीं माना गया है। इस शोर से जीवन में परेशानियां जन्म लेती है। इससे परिवार के सदस्यों में तनाव बढ़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here