10

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज फाइनल में इंडिया लीजेंड्स ने श्रीलंका लीजेंड्स को 14 रनों से शिकस्त दी है। रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला गया फाइनल मुकाबला रोमांच से भरा रहा। इंडिया लीजेंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 4 विकेट के नुकसान पर 181 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका लीजेंड्स 20 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर 167 रन ही बना सकी और इंडिया लीजेंड्स ने 14 रन से मैच जीत कर सीरीज पर कब्जा कर लिया।

रायपुर में हुए रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज फाइनल मुकाबले ने वर्ष 2011 के वर्ड कप फाइनल की याद दिला दी। जब टीम इंडिया ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के छक्के के साथ दूसरी बार विश्वकप जीता था। भारत की तरफ से युवराज सिंह (60) ने शानदार पारी खेली। युवी उस समय मैदान में उतरे जब टीम अपने दो बड़े विकेट खो चुकी थी। समय था संभलकर पारी को आगे बढ़ाने का और युवराज ने सचिन तेंदुलकर (30) के साथ टीम को संभाला।

पारी के अंतिम ओवरों में युवराज और युसूफ पठान (62) ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। युवराज इस पूरी सीरीज में जबरदस्त फॉर्म में नजर आए हैं, जैसे वो 2007 की टी-20 सीरीज में थे। श्रीलंका लीजेंड्स के खिलाफ शुरुआत में युवराज ने पारी की शुरुआत की लेकिन बाद में तेजी से रन बनाए और 35 गेंदों पर अपना सीरीज में दूसरा अर्धशतक पूरा किया। सचिन के साथ युवराज ने चौथे विकेट के लिए 43 रनों की साझेदारी की।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका लीजेंड्स की शुरुआत काफी अच्छी और टीम ने अपना पहला विकेट 62 के स्कोर पर गंवाया। सनथ जयसूर्या अपने पुराने ही रंग में दिखे और उन्होने 35 गेंद पर 43 रन बनाए। वहीं चिंथका ने 40 और वीररत्ने ने 38 रनों की पारी खेली लेकिन इसके बाद भी टीम जीत दर्ज नहीं कर पाई। युसूफ पठान को प्लेयर ऑफ़ द मैच और दिलशान को प्लयेर ऑफ़ द सीरीज का खिताब दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here