17

रिपोर्ट्स के अनुसार, संक्रमण का ये नया वैरिएंट किसी अन्य देश से भारत में आया है और ये कई देशों में अब तक मिल भी चुका है। पिछले कुछ दिनों में देश संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, कोरोना के नए वैरिएंट के अब तक ज्यादा मामले सामने आए नहीं है। संक्रमण का ये नया वैरिएंट ज्यादा घातक है जो रोगप्रतिरोधक क्षमता को नुकसान पहुंचता है।

कोरोना संक्रमण के इस नए वैरिएंट के अब तक करीब 20 प्रतिशत नमूनों में पाया गया है। जो पिछले वैरिएंट से बिल्कुल भी नहीं मिलता है। इन दिनों महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। राज्य से मिले वैरिएंट के नए नूमनों के विश्लेषण में सामने आया है कि दिसंबर 2020 की अपेक्षा अब संक्रमण के संक्रमण के नमूनों में ई484क्यू और एल452आर म्यूटेशन के अंशों में बढ़ोतरी हुई है।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए गृह मंत्रालय नए दिशा निर्देश जारी किये हैं। जो एक अप्रैल से तीस अप्रैल तक लागू रहेंगे। कोरोना के मामले जिस क्षेत्र में बढ़ रहे हैं। उन क्षेत्रों की निगरानी और दिशा निर्देशों का पालन करना राज्य सरकारों की जिम्मेदारी होगी। संक्रमण से बचने के लिए जो नियम है उसका पालन सभी को करना होगा। वहीं सरकार का प्रयास है कि टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here