7

कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू हो चुकी है। देश में लगातार नए संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए कई जिलों में वीकेंड लॉकडाउन बढ़ाकर 19 अप्रैल तक के लिए कर दिया है। प्रदेश के कुछ जिलों में वीकेंड लॉकडाउन शुक्रवार रात से ही लगा था, जिसे अब बढ़ा दिया गया है। जिला आपदा प्रबंध समितियों के साथ के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में ये फैसला किया गया है। सीएम की प्रबंध समितियों के साथ संक्रमण के बढ़ते हुए खतरे को देखते विस्तृत चर्चा हुई, जिसके बाद महामारी को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला किया गया।

इंदौर शहर, राऊ नगर, महू नगर, शाजापुर और उज्जैन जिले के सभी शहरों में 19 अप्रैल सुबह 6 बजे बजे लाॅकडाउन रहेगा। जबकि बड़वानी, राजगढ़, विदिशा, बालाघाट, नरसिंहपुर और सिवनी जिलों में शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी 19 अप्रैल तक और जबलपुर में लॉकडाउन 22 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है।

राजधानी भोपाल कोरोना ने आतंक मचाया हुआ है। शहर के श्मशान घाट और कब्रिस्तानों में शवों के अंतिम संस्कार लिए जगह तक नहीं बची है। शुक्रवार को भोपाल के भदभदा विश्राम घाट में 41 शवों का अंतिम संस्कार हुआ। जबकि 8 शवों को वापस लौटा दिया गया, जिन्हे शनिवार को बुलाया गया था।

भोपाल में आज जैसे आज श्मशान घाट और कब्रिस्तान में शवों के अंतिम संस्कार के लिए जगह की कम पड़ रही है। ठीक ऐसा ही करीब 37 वर्ष पहले 2 दिसंबर 1984 की रात में भोपाल गैस कांड के बाद हुआ था। उस समय इस हादसे में 10 हजार लोगों की जान चली गई थी। उस समय भी विश्राम घाटों में शवों को जलाने के लिए जगह नहीं बची थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here