10

आज हम आपको वास्तुशास्त्र के कुछ आसान उपाय बतायेंगे जिन्हें अपनाकर आप भी पाने परिवार को स्वस्थ रख सकते हैं। आइए जानते हैं ये उपाय।

  • वास्तुशास्त्र के अनुसार नकारात्मकता हमेशा घर के मुख्य द्वार से ही घर के भीतर प्रवेश करती है। ऐसे में घर के मुख्य द्वार पर साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • घर का मुख्य द्वार कभी भी टूटा-फूटा और जर्जर अवस्था में नहीं होना चाहिए। इसका घर के सदस्यों के सेहत पर बुरा असर पड़ता है।
  • घर के कोनों और दीवारों पर मकड़ी के जाले नहीं लगे होने चाहिए।ऐसा होने पर घर के सदस्यों में मानसिक तनाव बना रहता है।
  • घर के मुख्य गेट पर प्रतिदिन सुबह नहाने के बाद स्वास्तिक का निशान बनाएं। इसके साथ ही भवन के प्रवेशद्वार पर संगीतमय घंटियां लगाएं।
  • घर का मध्य भाग को हमेशा खाली रखें। बीम के नीचे कभी भी नहीं सोना चाहिए।
  • गरीबों और जरुरतमंदों को दान दें।
  • नींद पूरी लें लेकिन सोते समय आपका सिर दक्षिण दिशा की तरफ हो और पैर उत्तर की तरफ होना चाहिए।
  • हर शनिवार काले उड़द और सरसो के तेल का दान करते रहना चाहिए।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने से हनुमानजी की कृपा प्राप्त होती है और वास्तुदोष दूर होता हैं।
  • घर की दक्षिण दिशा में हनुमान जी का चित्र लगाना चाहिए।
  • घर में नौ दिन तक लगातार अखंड रामायण का पाठ कराने से भी वास्तुदोष से मुक्ति मिलती है।
  • घर में हर दिन सुबह और शाम कर्पूर जरूर जलाएं।
  • घर के भीतर कांटेदार पौधे कभी न लगाएं।
  • कमरों में प्राकृतिक रोशनी और हवा आने की पूरी व्यवस्था होनी चाहिए।
  • हर पूर्णिमा पर भगवान शिव की विधि विधान से पूजा रचन करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here