7

कोरोनावायरस से पूरे देश में कोहराम मचा हुआ है। दूसरी तरफ शादियों का सीजन भी अपनी रफ्तार पकड़े हुए हैं। बहुत सी शादियां कोरोना काल में ही संपन्न हुई है। लोग कम संख्या में लोगों को बुलाकर शादी रचा रहे हैं। ऐसे में उत्तराखंड के अल्मोड़ा के लाट गांव मैं शादी की तैयारियां बड़ी जोरों से चल रही थी। तभी दुल्हन के कोरोना संक्रमित होने की रिपोर्ट आ गई। इस बात की खबर जैसे ही गांव में फैली वहां हड़कंप मच गया। दुल्हन की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद गांव के सभी लोगों ने उस परिवार से दूरी बना ली। प्रशासन को दुल्हन के कोरोनावायरस होने की सूचना दी गई। तब तक दुल्हन के घर के लिए बरात निकल चुकी थी।

इस महामारी के समय में ऐसा पहली बार हुआ था। जब किसी पहाड़ की शादी में पंडित भी पीपीआई किट पहनकर शादी करवा रहा था। दुल्हन के परिवार वालों ने यह फैसला लिया की बेटी की शादी होगी। प्रशासन को इस बात की सूचना दी। जिस पर प्रशासन ने पीपीआई किट पहन कर शादी करवाने की इजाजत दे दी। साथ दूल्हे दुल्हन ने भी पीपीई किट पहनी। दोनों ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई और सात फेरे लेकर शादी के बंधन में बंध गए। उस समय घर के सदस्य ही वहां मौजूद थे। वो भी काफी दूर से शादी देख रहे थे।

एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने बताया कि शादी के बाद दुल्हन आइसोलेशन में है। ठीक होने के बाद ही दुल्हन अपने ससुराल जा सकेगी। साथ ही गांव में रहने वाले सभी लोगों को कोरोनावायरस करने को कहा। इस बीच यदि गांव में किसी की तबीयत खराब होती है तो पूरे गांव की कोरोनावायरस जाएगी। दुल्हन के कोरोना संक्रमित होने की वजह से उसे अपने मायके में ही क्वारंटाइन होना पड़ा। जिसकी वजह से दूल्हे को बिना दुल्हन के ही अपने घर वापस जाना पड़ा और दुल्हन की विदाई 2 हफ्ते बाद ही हो पाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here