16

देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर जारी है। रोजाना संक्रमण की वजह से हजारों मौतें हो रही हैं, वहां तीन लाख से ज्यादा मामले आ रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में जरूर संक्रमण के नए मामलों में गिरवाट देखने को मिली है लेकिन मौतों का ग्राफ नहीं गिर रहा है। कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए अब तक देश में 18 करोड़ से ज्यादा डोज दिए जा चुके हैं। कोरोना वैक्सीन लेने के बाद संक्रमण का खतरा कम नहीं होता है। वैक्सीन जरूर शरीर को संक्रमण के खिलाफ लड़ने में मजबूत बना देती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वैक्सीन का डोज लेने के बाद व्यक्ति संक्रमित नहीं होगा।

कोरोना से बचाव के लिए केंद्र सरकार में मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन ने देश की जनता से अपील की है कि वो कोरोना नियमों का ठीक से पालन करें। वैक्सीन लगी हो या नहीं लगी लेकिन मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखें। केंद्र सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के विजय राघवन ने लोगों से कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया। राघवन ने ट्वीट किया, ”बेहद महत्वपूर्ण। चाहे कोरोना वैक्सीन लगवा ली हो या नहीं, लेकिन मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, वेंटिलेशन। बहुत जरूरी है। लोग अपना मास्क न उतारें।’

देश में कोरोना के नए मामलों की रफ्तार कम जरूर हुई है लेकिन अभी भी देश में रोजाना तीन लाख से ऊपर ही मामले आ रहे हैं। वहीं केंद्र सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार ने पहले ही बोल चुके हैं कि संक्रमण की तीसरी लहर भी आएगी। हां, जब आएगी इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है लेकिन अब हमे इसलिए तैयार रहना होगा। देश में संक्रमण बढ़ने के साथ ही लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। पहली कोरोना लहर जहां बुजुर्गों के लिए घातक थी। वहीं दूसरी लहर युवाओं के कहर बरपा रही है लेकिन तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक होगी। ऐसे में सरकार और नागरिकों की चिंता बढ़ गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here