10

आयात पर लगे प्रतिबंध हटने का असर दालों पर पड़ता दिख रहा है। पिछले एक महीने में बाजार में देशी उड़द, अरहर, मूंग समेत विभिन्न प्रकार की दालों के दाम में लगातार गिरावट दर्ज की गई है। छोला, मूंग, चने की दाल में किलो में पांच से छह रुपये किलो का अंतर आया है। वहीं खाद्य तेलों में धीरे-धीरे सुधार होता जा रहा है। 190 तक पहुंच गया सरसों का तेल 155 रुपये और 170 वाला फॉरच्यून रिफाइंड आयल 155 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

दाल की कीमतें भी हुईं कम

एक महीने पहले रोजमर्रा के खाद्य सामग्री के दाम में काफी तेजी थी। मगर अब धीरे-धीरे दाम पहले की तरह सामान्य हो रहे हैं। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान ट्रकों का परिचालन भी प्रभावित हुआ था। इससे राजस्थान और उत्तर प्रदेश से आने वाली दाल की खेप प्रभावित थी। लिहाजा मांग ज्यादा और माल कम होने से थोक के साथ खुदरा भाव गर्म था। अब स्थिति सामान्य होने पर फिर से दाम काबू में आ रहे हैं।

खाद्य तेल भी हुए सस्ते

सरकार के प्रयास के कारण पैक खाद्य तेल के दाम में पिछले महीने के मुकाबले नरमी देखने को मिल रही है। खाद्य तेल में औसत आठ रुपये से लेकर 17 रुपये प्रतिलीटर तक दाम टूटे हैं। सरसों तेल के जून के मध्य तक रांची के बाजार में 184 रुपये लीटर तक थी। मगर अब 155 रुपये पर ठहरी हुई है। इसके साथ ही सूरजमुखी, पाम और खजूर तेल के दाम में भी कमी आयी है। अनलाक में गेंहू और चावल के दाम में भी कमी आयी है। चावल के दाम में औसत तीन रुपये प्रति किलो तो गेंहू के दाम में दो रुपये की कमी आयी है। गेंहू के दाम में कमी होने से आटे का भाव भी गिरा है।

ये हैं खाद्य पदार्थो के नाम

चावल मंसूरी 26 रुपये

चावल मिनीकट 36 रुपये

चावल लक्ष्मीभोग 42 रुपये

आटा 26 रुपये

चीनी 40 रुपये

सलोनी सरसों तेल 160 रुपये प्रति लीटर

रिफाइन तेल (फार्चून) 155 रुपये प्रति लीटर

रिफाइन तेल (महाकोश) 151 प्रति लीटर

मूंग धुली 100 95

उड़द काली 85 82

उड़द (धूली) 125 110

छोला 105 96

चना दाल सुपर 68 62

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here