11

टीम इंडिया ने श्रीलंका दौरे पर शानदार प्रदर्शन किया है। शिखर धवन (Shikhar Dhawan) की अगुआई में दूसरे मैच में इंडिया (India) ने श्रीलंका (Sri Lanka) को 3 विकेट से मात देकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 अजय बढ़त बना ली है। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में 9 विकेट के नुकसान पर 275 रन बनाए थे। भारत ने 7 विकेट के नुकसान पर 49.1 ओवरों में लक्ष्य को हासिल कर लिया था। टीम इंडिया ने इस जीत के साथ एक दिवसीय मैचों में अपने नाम एक रिकॉर्ड दर्ज किया है। टीम ने क्रिकेट में एक विपक्षी टीम को सबसे ज्यादा बार हारने का रिकॉर्ड बनाया है।

अब तक टीम इंडिया ने श्रीलंका को 93 बार अंतर्राष्ट्रीय एक दिवसीय मैच में मात दी है। भारत के बाद इस लिस्ट में ऑस्‍ट्रेलिया, पाकिस्‍तान आते हैं। न्‍यूजीलैंड को ऑस्‍ट्रेलिया ने 92 बार, श्रीलंका को पाकिस्‍तान ने 92 बार और इंग्‍लैंड को ऑस्‍ट्रेलिया ने 84 बार मात दी है। श्रीलंका के खिलाफ भारत ने लगातार 9वीं बार द्विपक्षीय सीरीज अपने नाम है। भारत के खिलाफ 1997 के बाद से श्रीलंका कोई भी द्विपक्षीय सीरीज नहीं जीत सका है। पिछली बार 12 सीरीज में से 10 में भारत ने जीत दर्ज की है जबकि 2 सीरीज ड्रा हुईं हैं।

श्रीलंका को सबसे ज्यादा हारने वाली टीम भारत बन गई है। वहीं दूसरे नंबर पाकिस्तान है, जिसने 92 मैचों में जीत दर्ज की है। टेस्ट, वनडे और टी-20 में श्रीलंका को सबसे ज्यादा बार मात टीम इंडिया ने दी है। भारत की श्रीलंका पर यह 126वीं जीत है। वहीं पाकिस्तान दूसरे नंबर पर हैं, उसने 125 मैचों में जीत दर्ज की है। दूसरे एक दिवसीय मैच में टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे दीपक चाहर (Deepak Chahar) उन्होंने 69 रनों की नाबाद पारी खेली।

टीम इंडिया 193 के स्कोर पर 7 विकेट खो चुकी थी। फैंस को लगने लगा था कि भारत यह मैच हार चुका है। श्रीलंका के खिलाड़ियों का भी उत्साह बढ़ने लगा था। वहीं चाहर और भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की जोड़ी ने इतिहास में अपना नाम दर्ज कर दिया। दोनों खिलाड़ियों के बीच नाबाद 84 रनों की साझेदारी हुई। दीपक चाहर को मैन ऑफ़ मैच चुना गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here