16

उत्तर प्रदेश सरकार ने गणतंत्र दिवस पर 100 कैदियों को रिहा करने का फैसला किया है। सरकार द्वारा उन कैदियों को रिहा किया जाएगा, जो अच्छे आचरण वाले उम्रदराज हैं और गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। सरकार द्वारा उन कैदियों को रिहा किया जाएगा, जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर है और 16 साल की सजा पूरी कर चुके हैं। जेल मुख्यालय द्वारा शासन को भेजी गईं कैदियों की फाइलों को परखा गया है।

इसके बाद अब अगली बैठक में चयनित पात्र कैदियों की लिस्ट शासन द्वारा राज्यपाल को भेजी जाएगी, जिस पर अंतिम फैसला आनंदीबेन पटेल लेंगी। प्रदेश में विधानसभा चुनाव की घोषणा चुनाव आयोग द्वारा की जा चुकी है। आचार चुनाव संहिता लागू की वजह से प्रदेश सरकार के फैसले पर मोहर लगना मुश्किल लग रहा है इसलिए अब शासन चुनाव आयोग से भी अनुमति लेने पर विचार कर रहा है।

इन जेलों में बंद कैदी होंगे रिहा
लखनऊ की आदर्श जेल, नारी बंदी निकेतन, बरेली,फतेहगढ़, वाराणसी,आगरा और नैनी सेंट्रल जेल के साथ ही जिला में बंद कैदियों को रिहा किया जाएगा। रिहाई के पात्र कैदियों का ब्यौरा डीजी कारागार आनन्द कुमार ने शासन को भेज दिया है।

गणतंत्र दिवस समारोह रविवार से शुरू
गणतंत्र दिवस समारोह रविवार (23 जनवरी) से शुरू हो जाएगा। देश आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मना रहा है। इसका समापन 30 जनवरी को शहीद सिवास के मौके पर होगा। गणतंत्र दिवस समारोह में दिल्ली के राजपथ पर लगभग एक हजार ड्रोन, 75 सैन्य विमान और 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों और 9 मंत्रालयों की झांकियां शामिल होंगी। इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर देशवासियों को पराक्रम दिवस की शुभकामनाएं दीं और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here