14

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त का जीवन शुरु से ही बहुत सारे उतार-चढ़ाव भरा रहा है,ये बात सभी लोग जानते हैं। एक समय था जब उनको वो नशे की लत में हो गये थे। संजय दत्त ने इस बारे में बताया कि उनके लिए नशे को छोड़ पाना बहुत ही मुश्किल रही। इसी के साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि रिहैब से लौटने के बाद लोगों ने उनके साथ कैसा बर्ताव किया था।

ड्रग्स के चलन में हो गये थे लिप्त

एक बातचीत के दौरान संजय ने बताया कि उनके लिए उस समय ड्रग्स करना बहुत ही ‘कूल’ था। उनसे सवाल किया गया कि नशे की लत से उन्होंने खुद को किस तरह से बाहर निकाला? तो संजय ने जवाब में कहा कि “मुझे अपना मन बनानाथा। क्या होता है जब आप ज्यादा नशीली दवाओं की लत में पड़ जाते हैं, तो आप अकेले हो जाते हो। मैं भी वैसा ही हो गया था। मुझे संभालना मुश्किल था और दो साल तक रिहैब में रहा था। मैं बस ये स्वीकार नहीं कर पा रहा था कि मैं एक ड्रग एडिक्ट हूं।”

एक्टर ने इसके आगे कहा कि जब रिहैब में उन्होंने बाकी लोगों के साथ फन एक्टिविटी में भाग लेना शुरू किया, तब उन्हेंसमझ आया कि उन्होंने बहुत कुछ खो दिया। संजय ने कहा,”मुझे लगने लगा था कि लाइफ ये होती है, जिसे मैं मिस कररहा था। मैं सोचता था कि मैं दस साल तक अपने कमरे या बाथरूम में था। मुझे शूट पर जाने का मन नहीं करता था। और ऐसे ही सब बदल गया।

लोगों ने कहा चरसी

इसके आगे संजय दत्त ने कहा कि ”जब मैं रिहैब से वापस लौटा तो लोग मुझे चरसी कहकर बुलाते थे। तब मुझे लगा किये गलत है, सड़कों पर लोग ऐसा बोल रहे हैं, कुछ करना पड़ेगा। मैंने वर्कआउट करना शुरू कर दिया। इसके बाद लोग मुझे देखकर चरसी नहीं, ‘क्या बॉडी है’ बोलते थे।

इस दौरान वो अपने कैंसर के बारे में बात भी की। उन्होंने कहा कि जब साल 2020 में उनको अपनी कैंसर की बीमारी के बारे में पता चला तो वो बहुत रोए थे।

बता दें कि संजय दत्त ने अपने कैंसर के बारे में भी बात की। उन्होंने बताया कि जब साल 2020 में उन्हें कैंसर का पताचला था, वो घंटों तक रोये थे। अपने बच्चों और पत्नी के बारे में वो सोच सोच कर रो रहे थे। एक्टर ने कहा कि राकेश रोशन ने उन्हें एक अच्छे डॉक्टर के बारे में बताया, जहां उनका इलाज हुआ और वो ठीक हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here