गुरु और शनि की युति एक महासंयोग माना जाता है, क्योंकि ये दोनों ही ग्रह धीमी गति से चलते है | ऐसे में शनि ढाई वर्ष और गुरु 12 से 13 महीने के अंतराल में अपनी राशि परिवर्तित करता है | इस वजह से इन ग्रहो को एक राशि में आने में सालो लग जाते है | ऐसे में 10 अप्रैल को गुरु मकर में प्रवेश करने वाले है, जबकि शनि पहले से ही इस राशि में विराजित है | ज्योतिषियों के अनुसार यह संयोग 59 साल में पहली बार हो रहा है | गुरु और शनि की यह युति शुभ फल प्रदान करने वाली है | इससे कुछ राशियों को लाभ होने वाला है, तो आइये जानते है | वे कौनसी राशियां है |

वृषभ
 
 
इस युति के प्रभाव से आप धार्मिक कार्यो में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे | समाज में आपका मान सम्मान बढ़ेगा | साथ ही समाज के कुछ प्रतिष्ठित लोगो के साथ भी आपकी मुलाकात होगी, जो आपके लिए फायदेमंद साबित होगी | इसके अलावा नौकरी के क्षेत्र में भी आपको बड़ा शुभ बदलाव देखने को मिलेगा | आपका ट्रांसफर भी हो सकता है |
कर्क
 
 
इस युति के प्रभाव से आपके व्यक्तित्व में बड़ा बदलाव आएगा | समाज में आपकी छवि मजबूत होगी और लोग आपकी तारीफ़ करेंगे | व्यापार में आपकी दूरदर्शिता सही साबित होने वाली है, आपके लाभ के योग बन रहे है | हालाँकि आपको स्वास्थ्य में उतार चढाव देखने को मिल सकता है |
मकर
 
 
इस राशि के लिए ये युति बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये युति इसी राशि में हो रही है | इस युति से आपके मान सम्मान में वृद्धि होगी | आपका कोई ऊँचा पद प्राप्त होने वाला है | आप किसी संस्था के अधिकारी भी बन सकते है | इस गोचर के चलते आपके दाम्पत्य जीवन में भी शुभ प्रभाव देखने को मिलेगा |
कुम्भ
 
 
इस युति के प्रभाव से आपको विदेश यात्रा करने का मौका मिलने वाला है | आपमें परोपकार की भावना का विकास होगा, लेकिन कुछ लोग आपके इस स्वभाव का फायदा उठा सकते है | इसीलिए आपको सतर्क रहने की जरूरत है | यदि कोई कोर्ट कचहरी का मामला चल रहा है, तो खर्चे होने वाले है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here