7

लखनऊ। टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में शानदार प्रदर्शन करके पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को उत्तर प्रदेश सरकार ने गुरुवार को राजधानी लखनऊ में सम्मानित किया है। सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने इस दौरान कुश्ती सहित दो खेलों को गोद लेने का भी ऐलान किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि आगामी 10 वर्ष तक सरकार द्वारा इन दो खेलों का योजनाबद्ध तरीके से वित्तपोषण किया जाएगा। सीएम ने जिलों में खेल विभाग के दफ्तर खोलने, खेलों के लिए आधारभूत ढांचा तैयार करने, अनुदान बढ़ाने, खेल अधिकारियों और प्रशिक्षकों के पद बढ़ाने के साथ मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी खोलने और खिलाड़ियों की डाइटमनी बढ़ाने का भी फैसला किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया है कि उन खिलाड़ियों को सीधे राजपत्रित अधिकारी (Gazetted officer) की नौकरी दी जाएगी, जो ओलंपिक, कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में पदक जीतेंगे। पुलिस विभाग में उन्हें डीएसपी का पद मिलेगा। उन्होंने कहा है कि केंद्र की सहायता से प्रदेश के हर गांव में एक खेल मैदान का निर्माण का काम चल रहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रमुख बड़े ऐलान

  • उत्तर प्रदेश के स्पोर्ट्स कॉलेज में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) की तर्ज पर प्रत्येक खिलाड़ी के डाइट मनी 250 रूपए से बढ़ाकर 375 रूपए प्रतिदिन होगी।
  • ओलंपिक, राष्ट्रमंडल, एशियाई खेलों, विश्व कप विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले उतर प्रदेश के खिलाड़ियों को राजपत्रित पदों पर सीधे नियुक्ति किया जाएगा। उन्हें पुलिस में उपाधीक्षक का पद दिया जाएगा।
  • यूपी के 16 जिलों में खेल कार्यालय खुलेंगे, खेलों के लिए आधारभूत ढांचे का विकास होगा. खेल संघों का अनुदान बढ़ाया जाएगा. खेल विभाग में 16 स्पोर्ट्स अफसर, 100 डिप्टी स्पोर्ट्स अफसर और 150 सहायक प्रशिक्षकों की पद बढ़ाए जाएंगे
  • उत्तर प्रदेश के 16 जिलों में खेल कार्यालय खोले जाएंगे। खेलों के आधारभूत ढांचे को विकसित किया जाएगा। खेल संघों का मौजूदा अनुदान बढ़ाया जाएगा। खेल विभाग में 16 खेल अधिकारी, 100 डिप्टी खेल अधिकारी और 150 सहायक प्रशिक्षकों की पद बढ़ाए जाएंगे।
  • मेरठ जिले में खेल विश्वविद्यालय का भी निर्माण हो रहा है, जिसका नाम मेजर ध्यानचंद होगा।
  • अत्याधुनिक कुश्ती अकादमी की भी स्थापना लखनऊ में की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here