6

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर (Pradyumna Tomar) लोगों की शिकायत के बाद खुद ही बिजली के खंबे पर चढ़ गए। ग्वालियर दौरे पर पहुंचे ऊर्जा मंत्री से लोगों की शिकायत थी कि बिजली नहीं आती है। बार-बार बिजली कटने से परेशानी होती है। लोगों की परेशानी सुनकर प्रद्युम्न तोमर खुद बिजली के खंबे पर चढ़ गए और वहां जमा कचरा साफ़ करने लगे। ग्वालियर के रहने वाले ऊर्जा मंत्री शुक्रवार को अपने क्षेत्र में पहुंचे तो लोगों की शिकायतें सुनकर उन्होंने बिजली कंपनी के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। लगातार लापरवाही की मिल रही शिकायतों पर उन्होंने अफसरों को हिदायत दी। वहीं शिकायत करने वाले लोगों से माफ़ी भी मांगी।

ग्वालियर (Gwalior) दौर पर पहुंचे ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर को जनता ने घेर लिया और बिजली विभाग को लेकर शिकायत करने लगे। कुछ लोगों का कहना था कि बिजली नहीं आती है तो वहीं कुछ का कहना था कि बिजली बार-बार जाती है। लोगों की परेशानी को सुनते ही मंत्री खुद बिजली के पोल पर चढ़ गए और उसे ठीक करने लगे। वहीं अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि बिजली की सप्लाई ठीक की जाये। प्रद्युम्न तोमर ने इस दौरान कहा कि बिजली सप्लाई में झाड़ और पेड़ों की झाडि़यों अवरोध है।

लोगों की शिकायत थी कि उन्हें बिजली नहीं मिल रही है। शिकायतों को सुनकर उन्होंने कहा कि जहां भी ट्रिपिंग (tripping) होगी। वहां वो जाकर निरीक्षण करेंगे। अगर जरूरत पड़ी तो प्रशासनिक सर्जरी भी करेंगे। ऊर्जा मंत्री ने पीएस और एमडी को निर्देश दिए कि उपभोक्ता तक बिजली सही तरीके से पहुंचे। प्रमुख सचिव और बिजली कंपनी के तीनों एमडी को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर सख्त हिदायत देते हुए कहा कि राज्य में अगर ट्रिपिंग की परेशानी खत्म नहीं हुई तो वो खुद इसे ठीक करेंगे और अधिकारियों से भी ठीक कराऊंगा। वहीं जो लोग इन निर्देशों का पालन नहीं करेंगे। उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी। भले ही वो कोई भी अधिकारी क्यों न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here