11

आपने वह कहावत तो सुनी ही होगी कि अगर इंसान में धैर्य हो, तो वह ऊंचे से ऊंचे पहाड़ को भी अपने कदमों में झुका सकता है। लेकिन धैर्य को परिभाषित करने के लिए सिर्फ़ कुछ पंक्तियाँ ही काफ़ी नहीं होती है, क्योंकि हर किसी में सब्र रखने की काबिलियत नहीं होती है।

हालांकि जो व्यक्ति जीवन के उतार चढ़ावों से सबक लेकर धैर्य का दामन थामें रखता है, उसकी ज़िन्दगी से एक न एक दिन संकट के सभी बादल हट की जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ एनी शिवा (Anie Siva) नामक महिला के साथ, जिन्होंने अपने साहस और मेहनत के दम पर सब इंस्पेक्टर का पद हासिल किया है।

लाखों लोगों के लिए प्रेरणा है एनी शिवा की कहानी

एनी शिवा (Anie Siva) की कहानी उन तमाम लोगों के लिए प्रेरणा है, जो वक़्त और हालातों को देखकर हार मान लेते हैं। क्योंकि जब किसी व्यक्ति में कुछ कर गुजरने की चाह होती है, तो राह कितनी ही मुश्किल क्यों न हो मंज़िल मिल ही जाती है। तो आइए जानते हैं एनी शिवा के बारे में, जिनकी कहानी इन दिनों सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रही है-

तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) के कांजीरामकुलम (Kanjiramkulam) में रहने वाली एनी शिवा (Annie Siva) ने स्कूल की पढ़ाई ख़त्म करके केएनएम गवर्मेंट कॉलेज में एडमिशन लिया था, जो उनके लिए एक अलग ही दुनिया थी। 18 साल की उम्र में एनी को अपने ही कॉलेज के एक लड़के से प्यार हो गया था, उस वक़्त वह फर्स्ट ईयर की छात्रा थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here