पहली बार संसद में कदम रखने वाले हैं ये 7 सांसद :- लोकसभा चुनाव 2019 (loksabha election 2019 result) में नरेंद्र मोदी (narendra modi) की अगुवाई में बीजेपी (BJP) ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्रचंड बहुमत के साथ दुबारा सत्ता में आई।

आमचुनाव 2019 में भाजपा ने 542 लोकसभा सीटो में से 303 सीटों पर जीत हासिल किया। वहीं भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए (NDA) ने 542 में 353 सीटों पर जीत दर्ज किया है।

सीधे होगा इंटरव्यू से भर्ती प्रति महीना मिलेगा 42000 से भी ज्यादा आज ही करें आवेदन
बेरोजगारों के लिए 10वीं 12वीं पास के लिए सबसे बड़ा मौका ,जल्दी करें आवेदन
सैलेरी 28,000 प्रति महीना फ्लिपकार्ट निकाला बंपर भर्ती निशुल्क करें आवेदन
8वीं 10वीं 12वीं पास के लिए सुनहरा मौका निशुल्क करें आवेदन

इस चुनाव में जहां पर एक से बढ़कर एक दिग्गज नेता को मुह की खानी पड़ी। तो वहीं इस लोकसभा चुनाव में कुछ ऐसे चेहरे भी शामिल हुए जो पहली बार संसद भवन पहुचें है।

इन नए चेहरों की पहचान आम नेताओं से बिलकुल अलग है। आइये जानते हैं इन खास चेहरों के बारे में जिनपर देश की नजर अगले 5 सालों तक रहेगी।

1. तेजस्वी सूर्या

बीजेपी की ओर से लोकसभा चुनाव 2019 में दक्षिण बैंगलोर से जीतकर आए सबसे युवा सांसद तेजस्वी सूर्या की चर्चा देश में सबसे ज्यादा हो रही है। तेजस्वी ने कांग्रेस महासचिव बी हरि प्रसाद को 3,31,192 मतों से हराकर संसद भवन पहुंचे है।

सूर्या की उम्र मात्र 28 बर्ष है। उन्होनें बेंगलुरु के इंस्टिट्यूट ऑफ लीगल स्टडीज से पढ़ाई की है। उस दौरान वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (AVBP) से जुड़े हुए थे। बताया जाता है कि इनकी पहली पसंद आरआरएस है।

सूर्या फिलहाल भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश महासचिव हैं। इसके साथ वह पार्टी की नेशनल सोशल मीडिया टीम के भी सदस्य हैं। सूर्या का पैतृक घर कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले में है। सूर्या एल. ए. रविसुब्रमण्यम के भतीजे है।

2. सन्नी देओल

फिल्म जगत के मशहूर एक्टर सन्नी देओल ने बीजेपी के टिकट पर पंजाब के गुरदासपुर से कांग्रेस के प्रमुख जाखड़ के खिलाफ चुनाव लड़ा और 82,459 मतों से शानदार जीत हासिल की। वहीं चुनाव प्रचार के दौरान सन्नी के गदर फिल्म का हैंड पंप वाली सीन काफी चर्चा में रहा था।

सन्नी रील लाइफ में देशभक्त हीरो के रूप में मशहुर है लेकिन अब उनको असल जिंदगी में रियल हीरो बनकर दिखाना होगा। उन्हें गुरदासपुर के लोगों की समस्याओं को ध्यान में रखकर सुलझाना होगा साथ ही संसद भवन में बीजेपी सदस्य की भी भूमिका निभाना होगा।

3. गौतम गंभीर

पूर्वी दिल्ली से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले गौतम गंभीर ने आप प्रत्यासी आतिशी मार्लेना को पटखनी देते हुए शानदार 3 लाख 90 हजार 391 वोटों से जीत दर्ज की।

गौतम गंभीर अपनी राष्ट्रवादी छवि के लिए जाने जाते हैं और यही वजह रही कि उन्हें बीजेपी से टिकट मिला। लेकिन चुनाव प्रचार के दौरान उनकर आपत्तिजनक पर्चे बटवाने का आरोप लगा था।

जिसके बाद गंभीर ने केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा था अगर आरोप साबित हुआ तो मैं बीच चौराहें पर फासी लगा लूंगा। अगर नहीं तो केजरीवाल सियासत छोड़ देगें।

बता दें कि 2011 के वन-डे विश्वकप में भी गंभीर ने फाइनल मुकाबले में श्रीलंका के विरुद्ध शानदार 97 रनों की पारी खेला था, और भारत को जीत के नजदीक पहुचाने में अहम योगदान दिया था।

4.स्मृति ईरानी

लोकसभा चुनाव के सबसे होट सीट में से एक अमेठी लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्यासी स्मृती ईरानी ने राहुल गांधी के खिलाफ उनके गढ़ में जीत हासिल की। कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले अमेठी सीट पर हमेशा से कांग्रेस का कब्जा रहा है।

बीजेपी ने स्मृति रानी को इससे पहले 2014 लोकसभा चुनाव में भी राहुल के खिलाफ अमेठी से ही चुनावी मैदान में उतारा था लेकिन उस दौरान उनको हार झेलनी पड़ी थी। वहीं अमेठी सीट जीतने के बाद स्मृती ने ट्विट किया था- ‘कौन कहता है आसमान में सुराख नहीं हो सकता’।

5. रवि किशन

भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार रवि किशन ने बीजेपी के टिकट पर गोरखपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और 3 लाख से ज्यादा वोटों से शानदार जीत हासिल की। दरअसल गोरखपुर लोकसभा सीट को मुख्य रूप से उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ माना जाता है।

लेकिन उपचुनाव में हार के बाद भाजपा ने रवि किशन पर भरोषा दिखाते हुए चुनावी मैदान में उतारा। वहीं लोकसभा चुनाव से पहले रवि किशन ने बयान दिया था कि पीएम मोदी अगर हमें (रवि किशन) पाताल से भी चुना लड़ने देगें तो उनकी अगुवाई में हम जीत हासिल कर लेगें।

रवि किशन बीजेपी में शामिल होने से पहले 2014 लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के टिकट पर जौनपुर से चुनाव लड़ा था लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाए थे। रवि किशन का जन्म मुंबई में हुआ था, मूल रूप से रवि किशन यूपी के जौनपुर के रहने वाले हैं।

6. हंसराज हंस

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के टिकट पर चुनाव जीतने वाले सूफी गायक हंसराज हंस की सियासत पर सबकी नजर रहेगी। हंसराज हंस इससे पहले भी राजनीति में जुड़े रहे है।

हंस राज हंस बीजेपी आने से पहले शिरोमणी अकाली दल और कांग्रेस में भी रह चुके हैं लेकिन इस बार बीजेपी के टिकट पर उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से चुनाव लड़कर संसद भवन पहुंचे। हंसराज हंस जालंधर के सफीपुर गांव के रहले वाले है।

7. लॉकेट चटर्जी

लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में भी शानदार प्रदर्शन किया। बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से बीजेपी ने 18 पर जीत दर्ज की।

वहीं मोदी की इस सुनामी में हुगली लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार लॉकेट चटर्जी ने शानदार जीत हासिल की। लॉकेट चटर्जी एक्ट्रेस के तौर पर बंगाल में काफी मशहूर हैं। चुनाव प्रचार के दौरान चटर्जी के कार पर हमला भी हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here