9

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पश्चमी बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के शासनकाल में विकास से पिछड़ जाने के बयान को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने आपत्ति जताई हैं. तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने बयान देते हुए कहा हैं की बीजेपी पश्चमी बंगाल के प्रति गलत धारणा पैदा कर रही हैं.

पश्चमी बंगाल की जीडीपी, औद्योगिक उत्पादन, प्रति व्यक्ति आय, ग्रामीण सड़कों के निर्माण तथा अन्य मामलों पर तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सौगत राय ने कहा हैं की हमारे शासनकाल में राज्य में प्रदर्शन शानदार रहा हैं. इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को बोलपुर में मीडिया सम्मेलन के दौरान कहा था की, सत्तारूढ़ टीएमसी अपने चुनावी वादे निभाने में नाकाम रही हैं.

आपको बता दें यहां अमित शाह का इशारा तृणमूल कांग्रेस के उस वादे से जुड़ा था, जिसमें उन्होंने बांग्लादेशी हटाओ का नारा देते हुए राज्य में पहली बार सरकार बनाई थी. लेकिन सरकार बनने के बाद बांग्लादेशियों के लिए वामपंथियों से बड़ी दीवार बनकर खड़ी हो गयी और इसी का फायदा ओवैसी भी अब उठाना चाहते हैं.

तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सौगत राय ने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के बारे में कहा हैं की प्रशांत ने पिछले कुछ सालों में पांच राज्यों में राजनीतिक दलों की मदद की हैं. यही कारण हैं की तृणमूल कांग्रेस को लगता हैं की वह पश्चमी बंगाल में भी अपना जादू दिखाएँगे. प्रशांत किशोर के ट्वीट का हवाला देते हुए सौगत राय ने बयान देते हुए कहा की बीजेपी राज्य में दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पायेगी.

आपको बता दें की अप्रैल-मई में प्रस्तावित पश्चमी बंगाल के विधानसभा चुनाव के लिए ममता बनर्जी ने प्रशांत किशोर, अरविंद केजरीवाल, शरद पवार, स्टालिन, कुमारास्वामी के साथ हाथ मिलाया हैं. हिन्दू वोट अगर बीजेपी को जाते हैं और मुस्लिम वोट ओवैसी की पार्टी को जाते हैं तो लाल सलाम और कांग्रेस के बीच तृणमूल कांग्रेस के पास ज्यादा वोट नहीं बचेंगे. यही कारण हैं की दावे भले ही तृणमूल कांग्रेस बेफिक्री के कर रही हो, लेकिन बीजेपी को लेकर चिंता पार्टी के शीर्ष नेताओं के माथे पर साफ़ नज़र आ रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here