6

उत्तर प्रदेश के एक और जिले का नाम बदलने की तैयारियां चल रही है। फिरोजाबाद (Firozabad) का नाम बदलकर अब चंद्रनगर (Chandranagar) करने का प्रस्ताव जिला पंचायत ने पास कर दिया है। जिला पंचायत कार्यालय सभागार में शनिवार को हुई बोर्ड की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष हर्षिता सिंह की अध्यक्षता में हुई, जिसमे शहर का नाम बदलने का प्रस्ताव ध्वनिमत से पास किया है, जो अब राज्य सरकार को भेजा गया है। वित्तीय वर्ष 2021-22 की कार्ययोजना पर जिला पंचायत बोर्ड की बैठक में विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में सभी सदस्यों से आग्रह किया गया कि वो बोर्ड को अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के प्रस्ताव उपलब्ध कराएं। बैठक के दौरान फिरोजाबाद शहर का नाम चंद्रनगर रखने का प्रस्ताव ब्लॉक प्रमुख लक्ष्मी नारायण यादव ने रखा। उन्होंने कहा कि शहर का नाम पहले चन्द्रनगर ही था, जिसे बाद में बदलकर फिरोजाबाद किया। लक्ष्मी नारायण ने कहा कि नाम बदलने का प्रस्ताव सदन में पास होकर शासन को भेजा जाए, जिससे इस पर विचार हो सके। इसके बाद ही बोर्ड की बैठक में नाम बदलने का प्रस्ताव ध्वनिमत से पास कर दिया गया, जिसके बाद अब यह प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा जाए।

जिला पंचायत में विधिक परामर्श दाता की नियुक्त के लिए बोर्ड की बैठक तय किया गया कि नियुक्ति का अधिकार जिला पंचायत अध्यक्षा को दिया जाये। इसके बाद जिला पंचायत अध्यक्ष हर्षिता सिंह ने सदन के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जिला पंचायत जिले के सभी क्षेत्रों में गुणवत्ता के साथ मानकों के अनुरूप ही विकास के काम कराएगी।

क्या कहते हैं इतिहासकार
शहर के इतिहासकार अनूप चंद जैन ने बताया है कि फिरोजाबाद का पुराना चंदवाड़ था लेकिन सन् 1566 में मुगल बादशाह अकबर के मनसबदार फिरोज शाह के चंदवाड़ में आने के बाद इसका नाम बदलकर फिरोजाबाद रख दिया गया। शहर से राजा टोडरमल जब तीर्थयात्रा के लिए गए हुए थे तो उस दौरान ही शहर को लूट लिया गया। इसके बाद उन्होंने अकबर अनुरोध किया था, जिसके बाद कारिंदे फिरोज शाह शहंशाह को यहां भेजा और इस शहर को लोग फिरोजाबाद के नाम से जानने लगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here