6

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) से झकझोर देने वाला मामला सामने आ रहा है, जिससे सरकार के सभी दावों की भी पोल खुल गई है। जिले में एक परिवार ऐसा है जो पिछले करीब 60 दिनों अन्न के किये तरस रहा है, जिसमे पांच बच्चे और एक महिला भी शामिल हैं। जिन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महिला की बड़ी बेटी की शादी हो चुकी है। महिला के दामाद को जब इस बारे में जानकारी मिली कि परिवार के सभी सदस्यों की एक साथ तबियत खराब हुई तो उसने तुरंत सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

दामाद का परिवार भी आर्थिक रूप से कमजोर हैं, जिसकी वजह से उसने एनजीओ से संपर्क किया। मामले की जानकारी मिलने के बाद संस्था के सदस्य मलखान सिंह जिला अस्पताल (Malkhan Singh District Hospital) के वार्ड नंबर 8 में भर्ती मरीजों से मिलने पहुंचे। जहां उनकी मदद की गई। बताया जा रहा है कि परिवार में छह सदस्य हैं, जिन्होंने पिछले दस दिनों से अन्न का एक दाना भी नहीं खाया है। वहीं परिवार के सदस्यों को अगर कोई रोटी भी देता था तो वो लोग उसे खाकर पानी पी लिया करते थे लेकिन पिछले करीब 2 सप्ताह से हालात बेहद खराब थे।

परिवार के सदस्यों की मदद के लिए एक एनजीओ ने हाथ बढ़ाया है, जिनके बाद इनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। महिला का कहना है कि उनके पति की मौत हो चुकी है, जिसके बाद परिवार की लगातार आर्थिक हालत ठीक नहीं है। वहीं अन्न के एक-एक दाने के लिए परिवार के सभी सदस्य लॉकडाउन के दौरान तरस गए। महिला के परिवार चार लड़के और एक लड़की हैं।

महिला का कहना है कि उनके पति विनोद की बीते वर्ष 2020 की मौत हो चुकी है, जिसके बाद परिवार की लगातार आर्थिक हालत ठीक नहीं है। वहीं अन्न के एक-एक दाने के लिए परिवार के सभी सदस्य लॉकडाउन के दौरान तरस गए। महिला के परिवार चार लड़के और एक लड़की हैं। महिला ने एक फैक्ट्री में काम शुरू किया था। जहां उसे चार हजार रुपए वेतन मिलता था लेकिन लॉकडाउन के दौरान फैक्ट्री बंद हो गई, जिसके बाद उन्हें काम नहीं मिला और घर के हालात बिगड़ते चले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here