14

वास्तु शास्त्र में जीवन की हर समस्या को दूर करने के उपाय बताए गए हैं इस में नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के भी बहुत सारे उपाय दिए गए हैं यदि जीवन में आर्थिक दिक्कतें आ रही हैं या फिर ऑफिस से घर जाने के बाद मूड खराब हो जाता है तो इस बात की आशंका अधिक हो जाती है कि घर में सकारात्मक की जगह नकारात्मक ऊर्जा बढ़ गई है। कई बार आर्थिक तंगी आने से लक्ष्मी माता की कृपा ना होने की वजह से भी आपका मन खराब ही रहता है। आज हम वास्तु से जुड़े कुछ उपाय के बारे में बात करेंगे, जिससे घर में सुख समृद्धि आती है।

घर में हो संतुलित पंचतत्व

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताए गए काम करके घर में लक्ष्मी आने के मार्ग को प्रशस्त किया जा सकता है। वास्तु शास्त्र के आधार पर अग्नि, पृथ्वी, वायु, जल एवं आकाश इन पांच तत्वों को वास्तु शास्त्र में पंचमहाभूत कहा जाता है। जिस घर में वास्तु बिगड़ जाते हैं, वहां से जुड़े देवता के कोप का सामना करना पड़ जाता है। जबकि संतुलित पंचतत्व वाले घरों में निवास करने से इस तरीके की दिक्कतें नहीं आती हैं और घर में सुख समृद्धि बनी रहती है।

मुख्य द्वार के बारे में बताए गए सुझाव

 घर को जो भी व्यक्ति मुख्य द्वार खोलता है उसे सर्वप्रथम दहलीज पर जल छिड़कना चाहिए, जिससे रात में वहां एकत्रित दूषित और जाए भूल कर बाहर चली जाए और घर में प्रवेश न कर पाए।

 सुबह सर्वप्रथम ग्रहणी घर की साफ सफाई करें। घर के मुख्य द्वार के पास अंदर की ओर रंगोली बनाएं या फिर रंगोली वाले टाइल्स लगा सकते हैं इससे भी नकारात्मक उर्जा है घर के बाहर ही रहते हैं मुख्य द्वार के ऊपर केसरिया रंग के 9 इंच प्रमाणिक स्वास्तिक बनाकर लगा दे।

 मुख्य द्वार पर तोरण लगाए आम के पत्तों के तोरण बहुत शुभ माने जाते हैं।

 खाना बनाने से पहले रसोई को साफ कर लें। रसोइए को चाहिए कि मंत्र पाठ भगवान से कहे कि मेरे हाथ से बना खाना स्वादिष्ट हो तथा सभी के लिए स्वास्थ्यवर्धक को।

 हमेशा ध्यान रखें कि पहली रोटी गाय को और आखिरी कुत्ते को देनी चाहिए। पक्षियों के लिए भी रोटी निकाल देनी चाहिए उसके बाद ही परिवार के अन्य सदस्यों को भोजन दें।

 घर या कार्यालय में शुद्ध ऊर्जा के संचार हेतु प्रातः व शाम को शंख की ध्वनि करें।

 घर में रोज गूग्गुल युक्त धूपबत्ती प्रज्वलित करें तथा ओम का उच्चारण करते हुए पूरे घर में धूपबत्ती के धुएं को घुमाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here