10

आप तो जानते ही होंगे कि जब कोहली भारत के कप्तान थे तब उनकी कप्तानी में कई सारे खिलाडी खेले थे। लेकिन ज्यादातर खिलाडी लंबे समय़ तक भारतीय़ टीम का हिस्सा नहीं रह पाए है। क्योंकि किसी ना किसी खिलाडीयों को किसी ना किसी वजह से टीम से बाहर होना पडा है।

बता दें कि विराट कोहली भारत की कप्तानी के साथ साथ आईपीएल रॉयल चेलेंजर्स बैंग्लोर के लिए कप्तानी भी कर चूके है। लेकिन उस दौरान कोहली टीम को ट्रॉफी दिलाने में बिल्कुल असफल रहे। कोहली की कप्तानी में भी बैंग्लोर की टीम में कई सारे खिलाडी खेले, लेकिन उस दौरान काफी कम खिलाडी बैंग्लोर के साथ लंबे समय तक टिक पाए।

इस खिलाडी को उसके देश ने दिया धोखा

बता दें कि नामीबिया क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर खिलाडी डेविड वीजे को हर कोई जानता ही होगा। डेविड पहले दक्षिण आफ्रीका के लिए खेला करते थे। लेकिन आफ्रिका के चयनकर्ताओं ने उन्हें टीम में मौका देना बंद किया। जिस के बाद उन्होंने दक्षिण आफ्रिका क्रिकेट बॉर्ड छोडकर नामीबिया के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया।

जिस के बाद विराट ने भी नहीं लिया टीम में

बता दें कि डेविड वीजे एक शानदार ऑलराउन्डर खिलाडी है। जो कि नीचले ऑवर्स में आकर कई बार तूफानी पारी खेलते है। आईपीएल में डेविड वीजे विराट कोहली की कप्तानी में बैंग्लोर की और से खेल चूके है।

जानकारी के अनुसार बता दें कि आईपीएल 2015-16 के दौरान डेविड वीजे विराट कोहली की कप्तानी खेलते हुए दिखे थे। उस सीजन उन्हें 15 मैच खेलने का मौका दिया गया था। जिसमें वीजे ने 25.12 की औसत से 16 विकेट चटकाए थे। साथ ही साथ 31.75 की औसत और 141.11 की स्ट्राइक रेट से 127 रन भी बनाए थे। इसके बावजूद उन्हें रिलीज कर दिया गया।

अब मिला मौका, गेंद और बेट से किया दमदार प्रदर्शन

वेस्टइंडीज में इन दिनों केरेबियन प्रीमियर लीग खेला जा रहा है। डेविड वीजे सैंट लूसिया किंग्स की टीम से खेल रहे है। उन्होंने लीग के पिछले मैच में बल्लेबाजी करते हुए 12 गेंदो पर 2 चौंके और 1 छक्के दी मदद से 21 रनों की नाबाद पारी खेली।

वहीं गेंदबाजी करते हुए डेविड वीजे ने 4 ऑवर में एक मेडन के साथ महज 8 रन देकर 3 महत्वपूर्ण विकेट चटकाए। इस वजह से उन्हें मैन ऑफ द मैच दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here