डॉ. पीटर एम्बारेक ने ब्रीफिंग के दौरान कहा कि यह साफ नहीं है कि क्या जिंदा जानवर की वजह से फैला या फिर इसे मार्केट में कोई दुकानदार लेकर आया और फिर वहां से अन्य लोगों में फैल गया। मंत्री ने कहा कि उन्होंने इस बात के सबूत देखे हैं कि यह वायरस संभवत: वुहान विषाणु विज्ञान संस्थान से निकला है। उन्होंने कहा कि मैंने इस बात को अस्वीकार करने वाले सबूत भी देखे हैं। हमें इस बात की तह तक जाना चाहिए, इसलिए हम पिछले कई महीनों से कह रहे हैं कि पश्चिमी देशों को इस सूचना तक पहुंच मुहैया कराई जाए।

बता दें कि चीन के प्रशासन ने जनवरी महीने में वुहान में बिकने वाले जानवरों की मार्केट को बंद कर दिया था। ऐसी चर्चाएं थीं कि इसी वुहान की मार्केट से किसी जानवर के जरिए से इंसानों में कोरोना वायरस का संक्रमण आया है।

मालूम हो कि अमेरिका के माइक पोम्पिओ लगातार कहते रहे हैं कि हमारे पास सबूत है कि कोरोना वायरस का संक्रमण वुहान के लैब से निकला है। पोम्पिओ ने ‘फॉक्स न्यूज’ को दिए एक साक्षात्कार में कहा था कि हमने इस संबंध में जो खुफिया जानकारी एकत्र की है, मैं उसके बारे में नहीं बता सकता, लेकिन हमारे पास इतनी जानकारी है कि  हमें इस बात पर पूरा भरोसा है। चीन के वुहान शहर से ही इस वायरस ने जन्म लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here